Headline
हिप्र संकट पर जयराम रमेश का तंज, कहा- मोदी की गारंटी है कांग्रेस की सरकारों को गिराओ
रेलवे जमीन के बदले नौकरी मामला : दिल्ली की अदालत ने राबड़ी देवी और उनकी दो बेटियों को दी जमानत
उप्र का ‘रामराज्य’ दलित,पिछड़े, महिला,आदिवासियों के लिए है ‘मनुराज’ : कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर दी वैज्ञानिक समुदाय को बधाई
तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं
वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति मुर्मू
बिट्टु कुमार सिंह को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्री
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार

स्वदेशी मेले में चौथे दिन मेहंदी रंगोली चित्रकला और डांडिया नृत्य का हुआ आयोजन, दर्शकों में रहा उत्साहपूर्ण माहौल

द्वारका, नई दिल्ली, 29 अक्टूबर: द्वारका स्थित सीसीआरटी ग्राउंड में आयोजित 6 दिवसीय स्वदेशी मेले में चौथे दिन मेहंदी रंगोली चित्रकला प्रतियोगिता के साथ-साथ डांडिया नृत्य बच्चों की ओर से मंच से कार्यक्रमों का आयोजन काफी उत्साह पूर्ण माहौल में किया गया इस अवसर पर अमृत धारा भोजनालय की ओर से लोगों को जमीन पर बैठकर भोजन खिलाया जा रहा है, जिसका लोगों ने जमकर आनंद लिया।

चित्र में रंग भरो प्रतियोगिता में भाग लेते हुए स्कूली बच्चे

उत्तराखंड समाज समिति द्वारका और पर्वतीय कला संगम ग्रुप द्वारा संचालित माँ नंदा देवी राज जाति यात्रा वृत्तांत और लोक संगीत का कार्यक्रम स्वदेशी मेला मंच पर बड़ी ही धार्मिक विधि के साथ उत्तराखंड के लोक कलाकारों दवारा किया गया, जिसमे माँ नंदा देवी के वृतांत को प्रस्तुत कर राज जात यात्रा, लोक संगीत कार्य क्रम को देखने के लिए उपस्थित दर्शको ने आनंद लिया,समिति के कार्यक्रम संयोजक ब्रजेश नौटियाल, गिरीश उपाध्याय, निर्देशक भागवत मर्नाल के द्वारा संचालित किया गया।

विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं मे भाग लेते हुए दिव्यांग छात्र

मेले में स्कूली बच्चों ने मंच से कथक, डांस,कार्यक्रम प्रस्तुत किए स्कूलों के बच्चे गीत संगीत के कार्य में उत्साह के साथ भाग ले रहे हैं वहीं शाम को होने वाली प्रतियोगिताओं में बच्चों ने तथ्य नीति पूरी और अन्य डांसों को प्रस्तुत किया इसी श्रृंखला में मंच से राजस्थान से आए हुए कठपुतलियों के कलाकारों ने कठपुतली का प्रदर्शन कर खेलों को डांस कर कठपुतलियां को दिखाया स्वदेशी मेले में सुबह के कार्यक्रम में लगभग आधा दर्जन से अधिक कॉलेज के दिव्यांग बच्चों ने भाग लिया और उन्होंने सॉफ्टबॉल थ्रू टेनिस बॉल शॉट पुट में दिव्यांग होते हुए अपने ओनरों का अपने आए हुए साथ में टीचरों के साथ बहुत बढ़िया तरीके से खेल को खेल टीचरों के निर्देशन में कई प्रकार को खेला जिसमें गर्गि कॉलेज , सक्षम कॉलेज , मैत्री कॉलेज भारत कीड़ा संगम संस्थान के सहयोग से आयोजित खेलों को बच्चों ने बड़ा उत्साह प्रदान माहौल में खेल 175 से अधिक बच्चे अपने-अपने स्कूलों के खेल टीचरों के दिशा निर्देशन पर दिव्यांग होते हुए भी उत्साह के साथ खेल खेलेरहेथे, खेल टीचर विक्रम सिंह रावत ने कहा कि सभी दिव्यांगों ने स्वदेशी मेले में प्रथम बार भाग लिया और अपनी खुशी का इजहार किया इनमें से आधे से अधिक दिव्यांग मानसिक रूप से वह दृष्टिहीन थे मेले के ऑफ मंच से छोटे-मोटे स्कूलों के कक्षा 3 से लेकर सिक्स क्लास तक के बच्चों ने अपने हुनर का अपने हाथों से चित्र भरो प्रतियोगिताएं मे भाग लिया, इस प्रतियोगिताएं स्वदेशी के संजय कुमार, बृज भूषण, श्री मति सुनीता यादव, श्री मति सुधा झा, श्री मति रानी शर्मा के देख रेख मे आयोजित की गई।

मेले में अवलोकन् उपरांत खरीदारी करते हुए कमल सेरावत

मेले में पूर्व पार्षद कमल सेरावत, पूर्व विधायक पवन शर्मा, आदि ने जमकर मेले का आनंद लिया और स्वदेशी उत्पाद की खरीद दारी की इस से पहले स्वदेशी मंच से स्वागत पटका पह नाकर स्वागत नागेंद्र सिंह, श्री मति अनिता पांडेय ने किया, मेला कमेटी के रविंद्र सोलंकी ने आये हुए लोगों का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top