Headline
दिल्ली आबकारी नीति घोटाला : बीआरएस नेता के कविता ने दिल्ली की अदालत से जमानत मांगी
टुकड़े-टुकड़े गैंग का नेतृत्व करने वाले लोग दिल्ली वालों के प्रति कितने जिम्मेदार होंगे- मनोज तिवारी
आप नेताओं को जेल भेजने से उनका मनोबल और मजबूत हुआ : संजय सिंह
केजरीवाल की याचिका पर ईडी को नोटिस, सुप्रीम कोर्ट 29 को करेगा अगली सुनवाई
मणिपुर के मुख्यमंत्री को क्यों बर्खास्त नहीं किया गया : कांग्रेस
पीएम मोदी का राहुल पर तंज कहा- यूपी में खानदानी सीट बचाना मुश्किल हुआ तो केरल में बनाया नया ठिकाना
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान

स्वतंत्रता दिवस पर राजभवन में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का हुआ आयोजन

लखनऊ, 16 अगस्त : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित राजभवन में स्वतंत्रता की 77वीं वर्षगांठ के अवसर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की प्रेरणा से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें सिक्किम तथा गुजरात से आए कलाकारों, भिक्षा से शिक्षा की तरफ उन्मुख हुए ‘उम्मीद‘ संस्था के बच्चों तथा राजभवन में अध्यासित परिवारों के बच्चों ने मनमोहक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं।

राज्यपाल ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले सभी बच्चों का उत्साहवर्द्धन करते हुए बधाई दी। देश प्रेम की भावना को अंगीकृत करते हुए प्रतिभागी बच्चों ने भारत माता के चित्र पर माल्यार्पण किया और मधुर सामूहिक स्वरों में राष्ट्रीय भावना से ओत-प्रोत देश भक्ति के गीतों की प्रस्तुति दी। सिक्किम और गुजरात से आए प्रतिभागी बच्चों ने अपने राज्यों के लोकनृत्यों को प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम में ‘उम्मीद‘ संस्था के बच्चों ने देशभक्तिपरक नृत्य प्रस्तुति से दर्शकों को सम्मोहित किया। राजभवन में अध्यासित परिवारों के बच्चों ने रामायण के लव कुश प्रसंग की भावपूर्ण नाट्य प्रस्तुति दी। सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से दर्शकों में देश प्रेम का उत्साह और लोक संस्कृति के प्रति गौरवपूर्ण भावना और आकर्षण नजर आया।

राज्यपाल ने इस अवसर पर कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले सभी बच्चों का उत्साहवर्द्धन करते हुए बधाई दी। उन्होंने आयोजकों से प्रस्तुतियों की समीक्षा करके भविष्य में गुणवत्ता सुधार करने को कहा। उन्होंने कहा कि बच्चों से नाट्य प्रस्तुति में जिस पात्र का अभिनय कराया जाए, उस पात्र का जीवन चरित्र और इतिहास में उसकी घटनाओं के प्रसंगों से भी बच्चों को अवगत कराया जाए। उन्होंने सिक्किम और गुजरात से आए कलाकारों से उत्तर प्रदेश भ्रमण के अनुभवों को भी पूछा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ , उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, विधान परिषद के सभापति कुं मानवेंद्र सिंह, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, अपर मुख्य सचिव राज्यपाल डॉ़ सुधीर महादेव बोबडे, विशेष सचिव बीएन सिंह, जिलाधिकारी लखनऊ सूर्यपाल गंगवार सहित प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों तथा गणमान्य नागरिकों ने भाग लेकर राज्यपाल को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top