Headline
हिप्र संकट पर जयराम रमेश का तंज, कहा- मोदी की गारंटी है कांग्रेस की सरकारों को गिराओ
रेलवे जमीन के बदले नौकरी मामला : दिल्ली की अदालत ने राबड़ी देवी और उनकी दो बेटियों को दी जमानत
उप्र का ‘रामराज्य’ दलित,पिछड़े, महिला,आदिवासियों के लिए है ‘मनुराज’ : कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर दी वैज्ञानिक समुदाय को बधाई
तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं
वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति मुर्मू
बिट्टु कुमार सिंह को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्री
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार

सरकार को संसद के विशेष सत्र में महिला आरक्षण बिल पारित कराना चाहिए: अधीर रंजन

नई दिल्ली, 18 सितंबर : लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को सदन में कहा कि सरकार को संसद के विशेष सत्र में महिला आरक्षण विधेयक पारित कराना चाहिए। श्री चौधरी ने संसद के विशेष सत्र के पहले दिन संसद के पुराने भवन में सदन की कार्यवाही के अंतिम दिन अपने उद्बोधन में कहा कि कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महिला आरक्षण विधेयक पारित कराने का प्रयास किया था। सरकार को अब इस विधेयक को पारित कराना चाहिए। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि सरकार उनकी मांग मानेगी।

उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मांग करते हुए कहा कि विपक्ष को अपनी बात कहने और जनहित के मुद्दे सरकार के समक्ष लाने का पर्याप्त अवसर देने के लिए विपक्षी दलों के लिए सप्ताह में पूरा एक दिन निर्धारित कर देना चाहिए। श्री चौधरी ने कई पूर्व प्रधानमंत्रियों के देश के विकास के लिए किये गये योगदान की चर्चा करते हुए कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू ने माडर्न इंडिया की नींव रखी। पंडित नेहरू ने भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन जैसे संस्थानों काे स्थापित किया जिसकी बदौलत आज चंद्रयान-3 को चांद पर उतारने में देश कामयाब हुआ। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण करके देश के आर्थिक विकास में महती योगदान दिया। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने देश को सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में इतना समृद्ध किया कि आज डिजिटल इंडिया की बातें की जा पा रही हैं।

उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह काम अधिक करते थे, बातें कम करते थे। उन्होंने वैश्विक आर्थिक मंदी के दौर में देश अर्थव्यवस्था को बखूबी संभाला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन काल में पंचायतीराज विधेयक लाकर ग्राम पंचायतों को मजबूती प्रदान की गयी। सूचना का अधिकार कानून बनाकर आम आदमी को जानकारी हासिल करने का अधिकार दिया गया। शिक्षा का अधिकार कानून बनाकर पांच से 14 वर्ष के बच्चों को शिक्षा की व्यवस्था की गयी। राष्ट्रीय महात्मा गांधी राेजगार गारंटी कानून बनाकर गरीबों के लिए रोजगार के अवसर प्रदान किये गये। खाद्य सुरक्षा कानून लाकर गरीबों को सस्ती दरों पर खाद्यान्न की व्यवस्था सुनिश्चित की गयी। श्री चौधरी ने कहा, “ हमें महत्वपूर्ण बातों को भूलना नहीं चाहिए, हम पुरानी चीजों को भूलेंगे नहीं। हम जब वसुदेव कुटुम्बकम कहते हैं तो हमें सबकी चिंता करनी चाहिए।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top