Headline
भोजपुरी अभिनेता पवन सिंह की मां ने भी काराकाट से भरा नामांकन
जानें ग्वालियर रियासत की राजमाता को: नेपाल राजघराने से था ताल्लुक, शादी के बाद किरण से बनीं माधवी राजे सिंधिया
ग्वालियर राजघराने की राजमाता माधवी का निधन, सीएम समेत अन्य नेताओं ने जताया दुख
अमीर और गरीब की लड़ाई है मौजूदा लोकसभा चुनाव : खड़गे
उच्चतम न्यायालय ने न्यूज़क्लिक प्रधान संपादक प्रबीर पुरकायस्थ की गिरफ्तारी को अवैध करार दिया, अविलंब रिहा करने का आदेश
दिल्ली हाई कोर्ट ने सिसोदिया की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
कन्हैया कुमार ने पीएम मोदी को दी अंबानी-अडाणी के यहां ईडी-सीबीआई को भेजने की चुनौती
मोदी के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान की पोल खोलेगी ‘आप’ : गोपाल राय
भारी मतदान के जरिये लोगों ने दिल्ली को दिया संदेश: महबूबा

विदेश मंत्री एस.जयशंकर एक से छह जून तक दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया की करेंगे यात्रा

नई दिल्ली, 31 मई (वेब वार्ता): विदेश मंत्री एस. जयशंकर केपटाउन में पांच देशों के समूह ब्रिक्स के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए बृहस्पतिवार से दक्षिण अफ्रीका की तीन दिवसीय यात्रा पर जाएंगे।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, दक्षिण अफ्रीका के बाद चार से छह जून तक वह नामीबिया की यात्रा पर जाएंगे।

मंत्रालय के अनुसार, ”विदेश मंत्री केपटाउन में ब्रिक्स के विदेश मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने के लिए एक से तीन जून तक दक्षिण अफ्रीका की यात्रा करेंगे।”

ब्रिक्स (ब्राजील-रूस-भारत-चीन-दक्षिण अफ्रीका) दुनिया के पांच सबसे बड़े विकासशील देशों को एक साथ लाता है। यह वैश्विक आबादी के 41 प्रतिशत, वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद के 24 प्रतिशत और वैश्विक व्यापार के 16 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व करता है।

केपटाउन में ब्रिक्स बैठक में हिस्सा लेने के अलावा जयशंकर अपने दक्षिण अफ्रीकी समकक्ष नालेदी पांडोर के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे।

वह दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे और उनके ब्रिक्स के अन्य विदेश मंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठकें करने और ‘फ्रेंड्स ऑफ ब्रिक्स’ में हिस्सा लेने की उम्मीद है।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, जयशंकर केपटाउन में भारतीय प्रवासियों के साथ भी बातचीत करेंगे। नामीबिया की उनकी यात्रा भारत के किसी विदेश मंत्री द्वारा इस अफ्रीकी देश की पहली यात्रा होगी।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, ”यात्रा के दौरान विदेश मंत्री देश के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात करेंगे और सरकार के अन्य मंत्रियों से भी मिलेंगे।”

मंत्रालय के अनुसार, जयशंकर संयुक्त आयोग की बैठक के उद्घाटन सत्र की सह-अध्यक्षता नामीबिया के उप प्रधानमंत्री नेटुम्बो नंदी-नदैतवाह के साथ करेंगे। वह नामीबिया में बसे भारतीय समुदाय से भी बातचीत करेंगे।

मंत्रालय के अनुसार, ”विदेश मंत्री की दक्षिण अफ्रीका और नामीबिया की यात्रा से इन दोनों देशों के साथ भारत के मजबूत द्विपक्षीय संबंधों के और गहरा होने की उम्मीद है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top