Headline
दूसरा चरण: पर्यवेक्षकों के साथ कॉन्फ्रेंस कर चुनाव आयोग ने दिए निर्देश
आम चुनाव के पहले चरण में 102 सीटों पर मतदान की तैयारी पूरी, शुक्रवार सुबह सात बजे से मतदान
कुतुब मीनार का दीदार करने भारी संख्या में पहुंचे पर्यटक, फ्री टिकट का जमकर उठाया लुत्फ
संविधान बदलने और वोट का अधिकार छीनने के लिए मोदी मांग रहे 400 सीटें : आप
मनीष सिसोदिया की रिहाई पर ग्रहण, न्यायिक हिरासत 26 अप्रैल तक बढ़ी
केजरीवाल ‘टाइप 2’ मधुमेह होने के बावजूद आम और मिठाई खा रहे: ईडी ने अदालत से कहा
धनबल, मंदिर-मस्जिद के नाम पर वोट का न हो गलत इस्तेमाल : मायावती
सेना और सुरक्षाबलों का अपमान कांग्रेस और इंडी गठबंधन की पहचान : शहजाद पूनावाला
तेजस्वी की सभा में चिराग पासवान को गाली दिए जाने की घटना को बिहार भाजपा अध्यक्ष ने बताया पीड़ादायक

लालू ने मोदी सरकार को ‘मुकदमा पर मुकदमा’ के लिए जिम्मेदार ठहराया

पटना, 05 जुलाई : नौकरी के बदले भूखंड घोटाले में सीबीआई द्वारा नया आरोपपत्र दाखिल किए जाने के दो दिन बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बुधवार को केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर तीखा प्रहार किया।

लालू प्रसाद पर रेल मंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान भ्रष्टाचार करने का आरोप है। उन्होंने कहा कि उनके और उनके परिवार के सदस्यों और सहयोगियों के खिलाफ ”मुकदमा पर मुकदमा” दर्ज किए जा रहे हैं।

राजद के गठन के 27 साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित एक समारोह का उद्घाटन करने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रसाद ने कहा, ”मुकदमा पर मुकदमा..।”

अपनी मूल भोजपुरी भाषा में लालू प्रसाद ने कहा, ”जब आपके दिन खत्म हो जाएंगे तो आपका (मोदी) क्या होगा? कम से कम हमने सद्भावना तो अर्जित कर ली है कि हम अभी भी फूलों की पंखुड़ियों और मालाओं से नवाज़े जा रहे हैं।”

राजद प्रमुख लालू प्रसाद (70 साल) स्वास्थ्य ठीक न होने की वजह से अपनी कुर्सी पर बैठे-बैठे, माइक पकड़ कर अपनी बात कह रहे थे। उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विपक्षी एकता संबंधी प्रयासों की सराहना की और लोकसभा चुनाव में भाजपा को ”जड़ से उखाड़ फेंकने” का संकल्प जताया।

उन्होंने महाराष्ट्र का परोक्ष संदर्भ देते हुए भारतीय जनता पार्टी पर ”खरीद-फरोख्त” करने का आरोप लगाया और दक्षिणी राज्य कर्नाटक में भाजपा की हार का जिक्र करते हुए कहा, ”कर्नाटक एक झांकी था।”

लालू प्रसाद ने कहा, ”बिहार में महागठबंधन विपक्षी एकता का एक शानदार उदाहरण रहा है। हमें सांप्रदायिकता और आरक्षण व्यवस्था को खत्म करने के प्रयासों के खिलाफ अपनी लड़ाई में दृढ़ रहना चाहिए।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top