Headline
भारत-बंगलादेश गंगा जल संधि की समीक्षा करेंगे, बंग्लादेशी नागरिकों को इलाज के लिए ई-वीजा मिलेगा
जल संकट को लेकर आतिशी का अनिश्चितकालीन अनशन दूसरे दिन भी जारी
एंटी पेपर लीक कानून लागू, आधी रात को नोटिफिकेशन, 10 साल जेल, 1 करोड़ का जुर्माना
हसीना का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर डीयू में एक हजार लोगों ने किया सामूहिक योगाभ्यास
दिल्ली जल संकट: हरियाणा से अधिक पानी की मांग के लिए आतिशी ने शुरू की भूख हड़ताल
दिल्ली कांग्रेस ने नीट ‘पेपर लीक’ को लेकर भाजपा कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया
ईडी ने मुख्यमंत्री के जमानत आदेश को अदालत की वेबसाइट पर अपलोड होने से पहले ही चुनौती दे दी: सुनीता
केजरीवाल की जमानत को उच्च न्यायालय में ईडी ने दी चुनौती

राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर बड़े स्तर पर युवा मतदाताओं से संवाद करेंगे प्रधानमंत्री मोद

नई दिल्ली, 24 जनवरी : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के मौके पर भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) द्वारा आयोजित कार्यक्रम के माध्यम से बड़ी संख्या में युवा मतदाताओं के साथ बातचीत करेंगे।

भाजयुमो अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने संवाददाताओं से कहा कि युवा मतदाताओं ने 2014 में मोदी को प्रधानमंत्री बनाने में और 2019 में उन्हें फिर से इस पद पर पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ”वे तीसरे कार्यकाल की खातिर मोदीजी को प्रधानमंत्री चुनने के लिए बहुत उत्साहित हैं।”

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सूर्या ने दावा किया कि भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार में युवाओं के लिए अभूतपूर्व अवसर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आर्थिक विकास की तेज रफ्तार और अवसंरचना के सुदृढ़ विस्तार के बीच बेरोजगारी दर अब तक के सबसे कम स्तर पर है और इसने प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से युवाओं को बड़े स्तर पर लाभ पहुंचाया है।

सूर्या ने कहा कि लाखों युवा मतदाता देशभर में करीब 5,000 स्थानों से प्रधानमंत्री से वर्चुअल तरीके से जुड़ेंगे।

उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक है क्योंकि पहली बार प्रधानमंत्री इतने बड़े स्तर पर युवा मतदाताओं से संवाद करेंगे। उन्होंने कहा कि इस तरह की कवायद चुनाव में युवा मतदाताओं की भागीदारी को बढ़ावा देगी और देश की लोकतांत्रिक जड़ों को गहरा करेगी।

सूर्या ने दावा किया कि देश में 18 से 25 साल आयु वर्ग के सात करोड़ से अधिक मतदाता हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने अनेक नये आईआईएम, आईआईटी और मेडिकल कॉलेज खोलने समेत उनकी मदद के लिए अनेक योजनाएं और नीतियां लागू की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top