Headline
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार
किसानों से बात करने के लिए हम हमेशा तैयार : अनुराग ठाकुर
फिर बजा पीएम मोदी का डंका, दुनिया भर के लोकप्रिय नेताओं की सूची में शीर्ष पर काबिज
अखिलेश के ‘पीडीए’ का जवाब स्वामी प्रसाद मौर्य की ‘राष्ट्रीय शोषित समाज’ पार्टी
मोदी ने अमूल के उत्पादक जीसीएमएमएफ को दुनिया की नंबर एक दुग्ध कंपनी बनने का लक्ष्य दिया
भाजपा सरकार ने ‘आर्थिक आतंकवाद’ शुरू किया, हमारे खातों पर ‘डाका डाला गया : कांग्रेस
किसान आंदोलन: संयुक्त किसान मोर्चा आज करेगा बैठक
बिहार : प्रेमिका से विवाह में परिजन बने बाधक, तो युवक ने फंदा लगाकर दे दी जान

मोदी ने किया गुजरात की पहली हैरिटेज ट्रेन का शुभारंभ

केवड़िया/नई दिल्ली, 31 अक्टूबर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के प्रथम गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर उन्हें स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर पुष्पांजलि अर्पित करके श्रद्धांजलि दी और एकता नगर रेलवे स्टेशन से अहमदाबाद के लिए स्टीम इंजन वाली गुजरात की पहली हेरिटेज ट्रेन का शुभारंभ किया।

श्री मोदी करीब आठ बजे गुजरात में नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध के निकट केवड़िया पहुंचे तथा सरदार पटेल की विश्व की सबसे बड़ी प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर पुष्पांजलि अर्पित करके श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा, “सरदार पटेल की जयंती पर हम उनकी अदम्य भावना, दूरदर्शी राजनेता और असाधारण समर्पण को याद करते हैं, जिसके साथ उन्होंने हमारे देश की नियति को आकार दिया। राष्ट्रीय एकता के प्रति उनकी प्रतिबद्धता हमारा मार्गदर्शन करती रहती है। हम उनकी सेवा के सदैव ऋणी रहेंगे।”

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर सबको राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई। इसके बाद उन्होंने राष्ट्रीय एकता दिवस परेड की सलामी ली जिसमें सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और राज्य पुलिस की विभिन्‍न टुकड़ियां एवं बैंड शामिल हुए। विशेष आकर्षणों में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सभी महिला बाइकर्स द्वारा डेयरडेविल शो, बीएसएफ का महिला पाइप बैंड, गुजरात महिला पुलिस द्वारा कोरियोग्राफ किया गया कार्यक्रम, विशेष एनसीसी शो, स्कूल बैंड प्रदर्शन, भारतीय वायु सेना का फ्लाई पास्ट शामिल था। इसी में गांवों की आर्थिक व्यवहार्यता का प्रदर्शन भी किया गया।

केवड़िया में प्रधानमंत्री ने 160 करोड़ रुपये की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया जिनमें एकता नगर से अहमदाबाद तक हेरिटेज ट्रेन, नर्मदा आरती सजीव प्रसारण लिए परियोजना, कमलम पार्क, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के भीतर एक पैदल मार्ग, 30 नई ई-बसें, 210 ई-साइकिलें और कई गोल्फ कार्ट, एकता नगर में सिटी गैस वितरण नेटवर्क और गुजरात राज्य सहकारी बैंक का ‘सहकार भवन’ का लोकार्पण तथा केवडिया में ट्रॉमा सेंटर और एक सौर पैनल के साथ उप-जिला अस्पताल शिलान्यास शामिल है।

एकता नगर रेलवे स्टेशन पर आयोजित समारोह में प्रधानमंत्री ने वीडियो लिंक के माध्यम से हैरिटेज ट्रेन की हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर पश्चिम रेलवे के अंतर्गत वडोदरा के मंडल रेल प्रबंधक जितेन्द्र कुमार सिंह एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

प्रत्येक रविवार को एकता नगर से अहमदाबाद के बीच चलने वाली यह साप्ताहिक गाड़ी 182 किलोमीटर की दूरी तीन घंटे 40 मिनट में तय करेगी। गाड़ी यात्रियों के लिए पांच नवंबर से उपलब्ध होगी। इस चार कोच की ट्रेन में एक डायनिंग कार, फ्लेमलेस किचन और तीन 48-48 सीटों के एग्जीक्यूटिव श्रेणी के कोच लगाए गए हैं। ट्रेन में दोनों ओर इंजन लगाए गए हैं जो बिजली से चलते हैं और उनकी डिजाइन भाप के इंजन के समान है। उसमें भाप के इंजन की आवाज़ और कृत्रिम धुआं का व्यवस्था की गई है। ताकि लोगों को वास्तविक भाप के इंजन का अहसास हो। कृत्रिम धुएँ के लिए रसायनों का प्रयोग किया गया है जिसमें बहुत मामूली प्रदूषण के साथ सफेद धुआं बनता है। गाड़ी में सागौन की लकड़ी की इंटीरियर बनाया गया है। बाहर पीयू पेंट और विनायल रैपिंग की गई है।

कुल 144 यात्रियों की क्षमता वाली यह गाड़ी रविवार को सुबह 06 बज कर 10 मिनट पर अहमदाबाद स्टेशन से रवाना होगी और नौ बज कर 50 मिनट पर एकता नगर पहुंचेगी। वापसी में रात में आठ बज 23 मिनट पर चल कर मध्य रात्रि 12 बज कर पांच मिनट पर अहमदाबाद पहुंचेगी। इसका किराया 885 रुपये प्रति व्यक्ति रखा गया है जिसमें भोजन का मूल्य शामिल नहीं है। गाड़ी मार्ग में कहीं और नहीं रुकेगी। इस ट्रेन को मुख्य रूप से पर्यटकों के लिए चलाया गया है। अहमदाबाद से सैलानियों को एक दिन में केवड़िया की सैर करना संभव होगा और वे रात में सरदार पटेल पर आधारित लाइट एंड साउंड शो भी देख सकेंगे।

प्रधानमंत्री दोपहर में यहां ‘आरंभ 5.0’ के समापन पर 98वें कॉमन फाउंडेशन कोर्स के अधिकारी प्रशिक्षुओं को संबोधित करेंगे। आरंभ का 5वां संस्करण ‘विघटन की शक्ति का दोहन’ विषय पर आयोजित किया जा रहा है। यह उन व्यवधानों को रेखांकित करने का एक प्रयास है जो वर्तमान और भविष्य को नया आकार देते हैं और समावेशी विकास के लिए शासन के क्षेत्र में व्यवधान की शक्ति का उपयोग करने के मार्गों को परिभाषित करते हैं। ‘मैं नहीं हम’ थीम वाले 98वें कॉमन फाउंडेशन कोर्स में भारत की 16 सिविल सेवाओं और भूटान की तीन सिविल सेवाओं से 560 अधिकारी प्रशिक्षु शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top