Headline
दिल्ली आबकारी नीति घोटाला : बीआरएस नेता के कविता ने दिल्ली की अदालत से जमानत मांगी
टुकड़े-टुकड़े गैंग का नेतृत्व करने वाले लोग दिल्ली वालों के प्रति कितने जिम्मेदार होंगे- मनोज तिवारी
आप नेताओं को जेल भेजने से उनका मनोबल और मजबूत हुआ : संजय सिंह
केजरीवाल की याचिका पर ईडी को नोटिस, सुप्रीम कोर्ट 29 को करेगा अगली सुनवाई
मणिपुर के मुख्यमंत्री को क्यों बर्खास्त नहीं किया गया : कांग्रेस
पीएम मोदी का राहुल पर तंज कहा- यूपी में खानदानी सीट बचाना मुश्किल हुआ तो केरल में बनाया नया ठिकाना
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान

भारत-बंगलादेश के बीच वनडे सीरीज टाई

ढाका, 23 जुलाई : भारतीय महिला क्रिकेट टीम का बांग्लादेश का दौरा अब खत्म हो गया है। टी20 सीरीज में जहां टीम ने 2-1 से जीत दर्ज की थी। वहीं वनडे सीरीज जीतने से टीम इंडिया चूक गई। बांग्लादेश ने इस मैच में भारत की झोली से मैच को टाई तक पहुंचा दिया। भारत को आखिरी 9 ओवरों में जीत के लिए 36 रन चाहिए थे और 6 विकेट शेष थे। पर फिर भी भारतीय महिला क्रिकेट टीम यह मुकाबला नहीं जीत सकी। इससे पहले सीरीज के पहले मुकाबले में बांग्लादेश ने भारत को हराकर इतिहास रचा था। वो बांग्लादेश महिला टीम की भारत के खिलाफ पहली वनडे जीत थी। अब इस टीम ने भारत को सीरीज जीतने से भी रोक लिया।

अगर इस सीरीज की बात करें तो पहले मुकाबले में बांग्लादेश ने भारत ने डीएलएस मेठड से 40 रनों से हराकर इतिहास रचा था। उसके बाद दूसरे मैच में टीम इंडिया ने जोरदार वापसी की और 108 रनों से शानदार जीत दर्ज की। फिर यह निर्णायक मुकाबला जैसा हुआ उसे देखकर हर कोई अपनी कुर्सी से नहीं हिल पा रहा था। बांग्लादेश की बॉलर्स ने शानदार वापसी करते हुए जीते हुए मैच में भारत को जीत से दूर कर दिया। इस तरह हरमनप्रीत कौर की अगुआई वाली यह टीम वनडे सीरीज जीतने में नाकामयाब हुई।

हरलीन और स्मृति की मेहनत हुई खराब

इस मैच में पहले खेलते हुए बांग्लादेश ने 4 विकेट खोकर 225 रन बनाए थे। फरगाना हक ने शानदार 107 रन बनाते हुए शतकीय पारी खेली थी। उसके बाद भारत की तरफ से एक बार फिर शुरुआत खराब रही। शेफाली वर्मा सिर्फ 4 रन बना पाईं और यास्तिका भाटिया भी 5 रन बनाकर आउट हो गईं। 32 पर दो विकेट गंवाने के बाद हरलीन देओल और उपकप्तान स्मृति मंधाना ने पारी को संभाला। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 107 रन जोड़े। स्मृति ने 59 और हरलीन ने 77 रनों की पारी खेली। इसके बाद फिर विकेटों का पतझड़ लग गया।

बांग्लादेश ने भारत को जीत से रोका

भारत ने 191 पर अपने पांच विकेट गंवा दिए थे, फिर भी 52 गेंदों में टीम को 35 रन चाहिए थे, जेमिमा रोड्रिग्ज एक छोर पर डटी थीं। लेकिन देखते ही देखते एक आए और एक गए वाला सीन शुरू हो गया। 216 पर 6 विकेट थे और 217 पर 9 विकेट हो गए। भारतीय टीम हार की ओर बढ़ती दिख रही थी। जेमिमा को स्ट्राइक नहीं मिल रही थी लेकिन दूसरी ओर से स्नेह राणा और देविका वैद्य खाता भी नहीं खोल सकीं। अंत में मेघना सिंह ने 49वें ओवर में एक बाउंड्री लगाई और आखिरी ओवर में चाहिए थे 3 रन। फिर भी स्ट्राइक जेमिमा को नहीं मिली। मेघना ने सिंगल लिया और जेमिमा 50वें ओवर की दूसरी गेंद पर आईं स्ट्राइक पर, लेकिन वह भी सिर्फ 1 रन ले पाईं। यहां तक स्कोर लेवल था और भारत जीतता दिख रहा था लेकिन फिर मैच पलटा और मेघना सिंह मारूफा अख्तर की गेंद को विकेटकीपर के दस्तानों में दे बैठीं। इस तरह यह मुकाबला टाई हुआ और सीरीज 1-1 से ड्रॉ पर समाप्त हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top