Headline
भाजपा ने लोकसभा चुनावों का संकल्प पत्र ‘मोदी की गारंटी 2024’ जारी किया
मुर्मु, धनखड़ मोदी, बिड़ला, अन्य गणमान्य ने दी भीमराव अंबेडकर को श्रद्धांजलि
बिहार के एकमात्र पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी लड़ रहे हैं लोकसभा का चुनाव
पाकिस्तान में जीवन-यापन की लागत पूरे एशिया में सबसे अधिक: एडीबी
म्यांमा से दालों का आयात करने के लिए भुगतान तंत्र को सरल बनाया गया: सरकार
बिजली की मांग बढ़ने से सरकार ने सभी गैस आधारित संयंत्रों को दो माह चालू रखने को कहा
रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची सोने की कीमत, 10 ग्राम के लिए अब खर्च करने होंगे इतने रुपए
2024 के लोकसभा चुनाव में पांच भोजपुरी सितारे दिखायेंगे जलवा
फिल्म ’12वीं फेल’ ने तोड़ा ‘गदर’ के 23 सालों का रिकॉर्ड

भारत पांच विकेट से जीता, पहला वनडे मैच

बारबाडोस, 28 जुलाई : कुलदीप यादव (6/4) और रवींद्र जडेजा (37/3) की शानदार गेंदबाजी के बाद ईशान किशन (52) के अर्द्धशतक के दम पर भारत ने पहले एकदिवसीय मैच में गुरुवार को वेस्ट इंडीज को पांच विकेट से मात दी। वेस्ट इंडीज ने भारत के सामने 115 रन का लक्ष्य रखा, जिसे भारतीय टीम ने 22.5 ओवर में पांच विकेट गंवाकर हासिल किया।

भारत के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज कुलदीप ने मात्र तीन ओवर (दो मेडेन) में छह रन देते हुए चार विकेट चटकाये, जबकि रवींद्र जडेजा ने छह ओवर में 37 रन देकर तीन सफलताएं हासिल कीं। डेब्यूटांट मुकेश कुमार, हार्दिक पांड्या और शार्दुल ठाकुर ने एक-एक विकेट लिया।

यह एकदिवसीय क्रिकेट में वेस्ट इंडीज का दूसरा सबसे छोटा स्कोर है, जबकि इसके पहले भारतीय टीम ने ही विंडीज को 2018 में तिरुवनंतपुरम में 104 रन पर ऑलआउट किया था। यह 23 ओवर में ऑलआउट हुई कैरिबियाई टीम की दूसरी सबसे छोटी पारी भी है। इससे पहले वह 2011 में बंगलादेश के विरुद्ध 22 ओवर में ऑलआउट हुई थी।

मेज़बान टीम की ओर से शाई होप ने 45 गेंद पर चार चौकों और एक छक्के की मदद से सर्वाधिक 43 रन बनाये। हाल ही में विश्व कप की दौड़ से बाहर होने वाली विंडीज का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा और उसके सात बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके।

कप्तान रोहित शर्मा ने 115 रन के मामूली लक्ष्य का पीछा करने के लिये युवा और निचले क्रम के बल्लेबाजों को उतारने का फैसला किया। सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (सात) इस मौका का फायदा नहीं उठा सके, लेकिन किशन शुरुआत से ही गेंदबाजों पर हावी रहे।

किशन ने पावरप्ले में सूर्यकुमार यादव के साथ भारतीय पारी को संभाला। पावरप्ले के फौरन बाद सूर्यकुमार (25 गेंद, 19 रन) पवेलियन लौट गये। पांड्या पांच रन के स्कोर पर रनआउट हुए और कुछ देर के लिये स्पिनरों ने भारतीय बल्लेबाजों को परेशान किया।

वेस्ट इंडीज ने भारत के विरुद्ध चार स्पिनरों का इस्तेमाल किया। किशन ने इस चुनौती का बखूबी सामना किया। उन्होंने पांड्या के आउट होते ही यानिक कारियाह को छक्का जड़ा और कुछ देर बाद दो रन लेकर 44 गेंद में अर्द्धशतक पूरा किया।

किशन 45 गेंद पर सात चौकों और एक छक्के के साथ 52 रन बनाकर आउट हो गये, हालांकि इस समय तक भारत लक्ष्य के करीब पहुंच चुका था। भारत ने लक्ष्य हासिल करने से पहले ठाकुर का विकेट गंवाया, लेकिन जडेजा (16 नाबाद) और सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे रोहित (12 नाबाद) भारत की विजय होने तक पिच पर खड़े रहे।

इससे पूर्व, भारत ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी और काइल मेयर्स (दो) के रूप में वेस्ट इंडीज का पहला विकेट मात्र सात रन पर गिरा दिया। युवा बल्लेबाज एलिक अथानेज़ और ब्रैंडन किंग ने कुछ देर के लिये पारी को संभाला, लेकिन दोनों ही पावरप्ले के अंदर पवेलियन लौट गये।

अथानेज़ 18 गेंद पर 22 रन बनाकर एकदिवसीय क्रिकेट में मुकेश कुमार का पहला विकेट बने, जबकि किंग (23 गेंद, 17 रन) को शार्दुल ठाकुर ने बोल्ड किया। वेस्ट इंडीज के तीन विकेट 45 रन पर गिरने के बाद पारी संभालने की जिम्मेदारी होप और शिमरन हेटमायर की अनुभवी जोड़ी पर आ गयी।

दोनों बल्लेबाजों ने आपस में सात ओवर बल्लेबाजी कर 43 रन जोड़े, हालांकि भारतीय स्पिनरों के आते ही विंडीज की पारी ताश के पत्तों की तरह ढेर हो गयी। जडेजा ने हेटमायर को बोल्ड करके अपना खाता खोला, जबकि अपने अगले तीन ओवरों में उन्होंने रोवमैन पॉवेल और रोमारियो शेफर्ड को पवेलियन लौटाया।

पारी के 19वें ओवर में पहली बार गेंद मिलने के बाद कुलदीप ने विंडीज को 23 ओवर में ऑलआउट कर दिया। उन्होंने डॉमिनिक ड्रेक्स, यानिक कारिया और जेडेन सील्स को आउट करने के अलावा होप का बहुमूल्य विकेट भी निकाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top