Headline
भोजपुरी अभिनेता पवन सिंह की मां ने भी काराकाट से भरा नामांकन
जानें ग्वालियर रियासत की राजमाता को: नेपाल राजघराने से था ताल्लुक, शादी के बाद किरण से बनीं माधवी राजे सिंधिया
ग्वालियर राजघराने की राजमाता माधवी का निधन, सीएम समेत अन्य नेताओं ने जताया दुख
अमीर और गरीब की लड़ाई है मौजूदा लोकसभा चुनाव : खड़गे
उच्चतम न्यायालय ने न्यूज़क्लिक प्रधान संपादक प्रबीर पुरकायस्थ की गिरफ्तारी को अवैध करार दिया, अविलंब रिहा करने का आदेश
दिल्ली हाई कोर्ट ने सिसोदिया की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
कन्हैया कुमार ने पीएम मोदी को दी अंबानी-अडाणी के यहां ईडी-सीबीआई को भेजने की चुनौती
मोदी के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान की पोल खोलेगी ‘आप’ : गोपाल राय
भारी मतदान के जरिये लोगों ने दिल्ली को दिया संदेश: महबूबा

बिहार में स्कूल में अनुपस्थित रहने वाले शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटने के आदेश

पटना, 06 जुलाई: बिहार शिक्षा विभाग के हालिया परिपत्रों को लेकर चल रहे विवाद के बीच पटना जिला प्रशासन ने राजधानी पटना के सरकारी स्कूलों में अनुपस्थित पाए गए 87 शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटने का आदेश दिया है।

एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।

अधिकारी ने बताया कि बिहार के शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव के के पाठक द्वारा 23 जून को लिखे गए एक पत्र के अनुसार एक जुलाई से सभी जिलाधिकारियों द्वारा अपने संबंधित क्षेत्रों में सरकारी स्कूलों का सप्ताह में कम से कम दो बार लगातार निरीक्षण और निगरानी की जाएगी।

इस बीच, राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने भी पांच जुलाई को वरीय अधिकारियों द्वारा बुलायी गयी ऑनलाइन बैठकों में अनुपस्थित रहने के कारण पूर्णिया एवं दरभंगा जिला में तैनात व्याख्याताओं के एक दिन के वेतन में कटौती करने का आदेश दिया है।

पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने बृहस्पतिवार को बताया, ”जिला प्रशासन ने जिले के सरकारी स्कूलों के 87 शिक्षकों के एक दिन के वेतन में कटौती या रोक लगाने का आदेश दिया है, क्योंकि वे एक जुलाई से चार बार किए गए निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाए गए थे। अनुपस्थित शिक्षकों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की भी सिफारिश की गई है।”

जिलाधिकारी ने कहा, ”राज्य शिक्षा विभाग के हालिया पत्र के बाद पटना जिले के सभी स्कूलों में सप्ताह में कम से कम दो बार निरीक्षण किया जा रहा है। पांच जुलाई को कुल 487 स्कूलों का निरीक्षण किया गया, इस दौरान 10 शिक्षक अनुपस्थित पाये गये। जिले में कुल 3486 सरकारी स्कूल हैं”।

उन्होंने कहा कि यह सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता को और बेहतर बनाने के लिए एक अभियान के रूप में जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top