Headline
भोजपुरी अभिनेता पवन सिंह की मां ने भी काराकाट से भरा नामांकन
जानें ग्वालियर रियासत की राजमाता को: नेपाल राजघराने से था ताल्लुक, शादी के बाद किरण से बनीं माधवी राजे सिंधिया
ग्वालियर राजघराने की राजमाता माधवी का निधन, सीएम समेत अन्य नेताओं ने जताया दुख
अमीर और गरीब की लड़ाई है मौजूदा लोकसभा चुनाव : खड़गे
उच्चतम न्यायालय ने न्यूज़क्लिक प्रधान संपादक प्रबीर पुरकायस्थ की गिरफ्तारी को अवैध करार दिया, अविलंब रिहा करने का आदेश
दिल्ली हाई कोर्ट ने सिसोदिया की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
कन्हैया कुमार ने पीएम मोदी को दी अंबानी-अडाणी के यहां ईडी-सीबीआई को भेजने की चुनौती
मोदी के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान की पोल खोलेगी ‘आप’ : गोपाल राय
भारी मतदान के जरिये लोगों ने दिल्ली को दिया संदेश: महबूबा

बिहार : डीएसपी स्तर के अधिकारियों के हाथों में होगी साइबर थाने की कमान

पटना, 10 जून: बिहार में संगठित साइबर अपराध की रोकथाम के लिए चार रेलवे जोन क्षेत्रों में खुले 44 साइबर थानों की कमान पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारियों के अधिकारियों के हाथों में होगी। इन थानों में ई मेल और डाक के जरिए शिकायत भेजकर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

बिहार में बगहा, नवगछिया सहित 40 पुलिस जिलों के अलावा पटना, मुजफ्फरपुर, जमालपुर और कटिहार रेलवे जोन में शुक्रवार को साइबर थाने की शुरुआत हुई है।

बताया गया कि शिकायत प्राप्त होने के बाद थाने के अधिकारी घर जाकर शिकायतकर्ता से बात करेंगे और आगे की कारवाई करेंगे। प्रत्येक जिला के नामों से संचालित इस थाने का क्षेत्राधिकार पूरा जिला होगा।

आर्थिक अपराध इकाई के अपर पुलिस महानिदेशक नैयर हसनैन खान ने बताया कि सभी साइबर थानों की कामन डीएसपी स्तर के अधिकारी संभालेंगे जबकि मामले की जांच निरीक्षक स्तर के अधिकारी हो।

उन्होंने कहा कि साइबर थानों के लिए 660 पुलिस बल की नियुक्ति तुरंत की जाएगी। इन थानों के सभी कार्य डिजिटल होंगे।

उल्लेखनीय है कि राज्य में पटना, नवादा, नालंदा, जमुई और शेखपुरा साइबर अपराध के रूप में हाट स्पॉट के लिए जाना जाता हैं। खान ने बताया कि साइबर थाने में प्राथमिकी दर्ज करना आसान होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top