Headline
भाजपा ने लोकसभा चुनावों का संकल्प पत्र ‘मोदी की गारंटी 2024’ जारी किया
मुर्मु, धनखड़ मोदी, बिड़ला, अन्य गणमान्य ने दी भीमराव अंबेडकर को श्रद्धांजलि
बिहार के एकमात्र पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी लड़ रहे हैं लोकसभा का चुनाव
पाकिस्तान में जीवन-यापन की लागत पूरे एशिया में सबसे अधिक: एडीबी
म्यांमा से दालों का आयात करने के लिए भुगतान तंत्र को सरल बनाया गया: सरकार
बिजली की मांग बढ़ने से सरकार ने सभी गैस आधारित संयंत्रों को दो माह चालू रखने को कहा
रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची सोने की कीमत, 10 ग्राम के लिए अब खर्च करने होंगे इतने रुपए
2024 के लोकसभा चुनाव में पांच भोजपुरी सितारे दिखायेंगे जलवा
फिल्म ’12वीं फेल’ ने तोड़ा ‘गदर’ के 23 सालों का रिकॉर्ड

बांग्लादेश से वनडे में पहली बार हारी भारतीय महिला टीम

मीरपुर, 16 जुलाई : भारतीय टीम का बल्लेबाजी में लचर प्रदर्शन जारी रहा जिससे बांग्लादेश ने अपने गेंदबाजों की बदौलत रविवार को यहां बारिश से प्रभावित शुरूआती महिला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में डकवर्थ लुईस पद्धति से 40 रन से जीत हासिल की।

यह बांग्लादेश की मेहमान टीम पर वनडे में पहली जीत है जिससे उसने तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 से बढ़त बना ली।

भारत की युवा तेज गेंदबाज अमनजौत कौर ने वनडे में पदार्पण पर 31 रन देकर चार विकेट हासिल किये जिससे बांग्लादेश की टीम 43 ओवर में 152 रन पर सिमट गयी।

भारतीय टीम इस आसान लक्ष्य का पीछा करते हुए 35.5 ओवर में महज 113 रन के भीतर सिमट गयी।

करीब एक घंटे की बारिश के कारण मैच 44-44 ओवर का कर दिया गया था और भारत को डकवर्थ लुईस पद्धति से 154 रन का संशोधित लक्ष्य मिला।

भारत की बल्लेबाजी इससे पहले हुई टी20 श्रृंखला में भी लचर रही थी जिसमें टीम दूसरे मैच में 95 रन पर ही सिमट गयी थी, लेकिन गेंदबाजों की बदौलत इसे जीतने में सफल रही थी।

बांग्लादेश ने हालांकि तीसरे और अंतिम मैच में भारत को उसकी लचर बल्लेबाजी के कारण हरा दिया था।

अनुभवी खिलाड़ी दीप्ति शर्मा 20 रन की पारी खेलकर शीर्ष स्कोरर रहीं। उनके अलावा कोई भी बल्लेबाज 20 रन के स्कोर तक नहीं पहुंच सकी।

बांग्लादेश की मध्यम गति की गेंदबाज मारूफा अख्तर ने सात ओवर में 29 रन देकर चार विकेट झटके और लेग स्पिनर राबिया खान ने 7.5 ओवर में 30 रन देकर तीन विकेट प्राप्त किये।

भारत की स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना (11 रन) इस बार भी बड़ी पारी खेलने में नाकाम रही और आउट होने वाली पहली खिलाड़ी रहीं।

शीर्ष क्रम की बल्लेबाज प्रिया पूनिया 2021 के बाद पहली बार भारतीय टीम में वापसी कर रही हैं, लेकिन वह 27 गेंद खेलकर 10 रन ही बना सकी और 30 रन के स्कोर पर आउट होने वाली टीम की दूसरी खिलाड़ी रहीं।

स्कोर में सात रन ही जुड़े थे कि कप्तान हरमनप्रीत कौर (05 रन) नाहिदा अख्तर की गेंद पर पगबाधा हो गयीं।

विकेटकीपर बल्लेबाज यास्तिका भाटिया (15 रन) को राबिया ने अपना पहला शिकार बनाया, इससे स्कोर चार विकेट पर 44 रन था।

मध्यक्रम को संभालने की जिम्मेदारी जेमिमा रोड्रिग्स (10 रन) के कंधों पर थीं, लेकिन उनकी खराब फॉर्म जारी रही और वह राबिया की दूसरी शिकार बनीं।

फिर अमनजोत (15 रन) ने दीप्ति का साथ निभाने का पूरा प्रयास किया, पर मरूफा अख्तर ने उनके बीच 30 रन की साझेदारी तोड़कर टीम की उम्मीदें तोड़ दीं।

लगातार विकेट गिरते रहे और अनुषा बारेड्डी के रन आउट होते ही बांग्लादेश महिला टीम ने वनडे में पहली बार भारत को पराजित किया।

इससे पहले भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया। बांग्लादेश की टीम बादलों से भरे मौसम में अपने ही मैदान पर दबदबा नहीं बना सकी। वहीं भारत को अमनजोत के जादुई स्पैल तथा स्नेह राणा और दीप्ति शर्मा की किफायती गेंदबाजी से मदद मिली जिससे टीम ने शुरु से ही मेजबानों पर शिकंजा कस दिया।

अमनजोत (23 साल) ने सलामी बल्लेबाज मुर्शिदा खातून, फरगना हक, कप्तान निगार सुल्ताना और राबिया खान के विकेट झटके जिससे बांग्लादेश की टीम जूझती नजर आयी।

निगार सुल्ताना घरेलू टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाली खिलाड़ी रहीं, उन्होंने शेरे बांग्ला राष्ट्रीय स्टेडियम में 39 रन की पारी खेलने के अलावा फरगना हक (27 रन) के साथ 49 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी निभायी।

स्नेह राणा ने भारत को पहली सफलता दिलायी जब सलामी बल्लेबाज शर्मिन अख्तर आठवें ओवर में इस स्पिनर की गेंद पर रन आउट हो गयीं।

गीली आउटफील्ड पर रन नहीं बना पाने के दबाव का असर शर्मिन पर दिखा जो मुर्शिदा के तेजी से रन लेने प्रयास में रन आउट हुईं और उन्होंने टीवी अंपायर के फैसले का भी इंतजार नहीं किया।

16वें ओवर के शुरु में बारिश की बाधा से एक से ज्यादा घंटे का खेल खराब हुआ और इसके बाद भी बांग्लादेश की धीमी रन गति जारी रही जिससे टीम 21वें ओवर के खत्म होने पर तीन विकेट पर 63 रन पर बनाकर जूझ रही थी।

अनुभवी बल्लेबाज फरगना हक (27 रन) ने कप्तान निगार सुल्ताना के साथ अच्छी साझेदारी की लेकिन वह 21वें ओवर में अमनजोत का दूसरा शिकार बनीं।

कप्तान सुल्ताना भी जल्द ही अमनजोत की गेंद पर पगबाधा आउट हो गयीं जिससे यह तेज गेंदबाज और भारतीय खिलाड़ी खुशियां मनाने लगे।

विकेट लगातार अंतराल पर गिरते रहे और बांग्लादेश की पारी एक ओवर पहले सिमट गयी क्योंकि अंतिम बल्लेबाज शोर्ना अख्तर चोटिल होने के कारण बल्लेबाजी करने नहीं उतरीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top