Headline
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर डीयू में एक हजार लोगों ने किया सामूहिक योगाभ्यास
दिल्ली जल संकट: हरियाणा से अधिक पानी की मांग के लिए आतिशी ने शुरू की भूख हड़ताल
दिल्ली कांग्रेस ने नीट ‘पेपर लीक’ को लेकर भाजपा कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया
ईडी ने मुख्यमंत्री के जमानत आदेश को अदालत की वेबसाइट पर अपलोड होने से पहले ही चुनौती दे दी: सुनीता
केजरीवाल की जमानत को उच्च न्यायालय में ईडी ने दी चुनौती
भाजपा के सांसद सांसद भर्तृहरि महताब लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर बनाये गये
योग का दुनिया भर में विस्तार, योग से जुड़ी धारणाएं बदली हैं : मोदी
योग का दुनिया भर में विस्तार, योग से जुड़ी धारणाएं बदली हैं : मोदी
नीट पेपर लीक मामले में आरोपियों ने कबूला, एक दिन पहले मिल गया था प्रश्न पत्र

पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने परिवार के साथ केक काटकर मनाया,अपना 76वां जन्मदिन

पटना, 11 जून: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद ने रविवार को पटना में परिवार की मौजूदगी में केक काटकर अपना 76वां जन्मदिन मनाया।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को राजद सुप्रीमो को जन्मदिन की बधाई दी और उनके लंबे और स्वस्थ जीवन की कामना की।

लालू ने शनिवार और रविवार की रात पटना के 10 सर्कुलर रोड स्थित बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और अपनी पत्नी राबड़ी देवी के आधिकारिक आवास में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद समेत परिवार के सभी सदस्यों की मौजूदगी में केक काटकर जन्मदिन मनाया।

राजद सुप्रीमो का जन्मदिन मनाने के लिए उनकी बेटी रोहिणी आचार्य भी पटना पहुंची हैं। रोहिणी ने राजद प्रमुख को गुर्दा दान कर उनकी जान बचाई थी।

राजद के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा, ”पिछले साल दिसंबर में सिंगापुर में सफल गुर्दा प्रत्यारोपण के बाद पार्टी सुप्रीमो का जन्मदिन पटना में मनाया जा रहा है। राजद पूरे बिहार में पंचायत, प्रखंड और अनुमंडल स्तर पर भी इसी तरह का समारोह आयोजित कर रहा है।”

गगन ने कहा, ”अन्य राज्यों में जहां राजद के सदस्य हैं, वहां सामूहिक दावतें आयोजित की जा रही हैं। पार्टी के लोग अस्पतालों में गरीब मरीजों के बीच फल, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों के बीच स्टेशनरी (पढ़ाई से संबंधित वस्तुएं) बांट रहे हैं। इसके अलावा, वे इस अवसर पर कपड़े और रक्त दान करेंगे।”

राजद के संरक्षक लालू प्रसाद के राज्य में आने वाले संसदीय और विधानसभा चुनाव से पहले विपक्षी दलों को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की उम्मीद है।

राजनीतिक पर्यवेक्षकों का मानना है कि लालू की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विरोधी नेताओं के साथ नेटवर्क बनाने की क्षमता अद्वितीय है।

राजद बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार में सबसे बड़ी सहयोगी है।

नीतीश अगले लोकसभा चुनाव से पहले सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने के लिए पहले से ही काम कर रहे हैं।

बिहार में महागठबंधन में सात दल जनता दल (यूनाइटेड) (जद-यू), राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी-लेनिनवादी (भाकपा-माले), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) शामिल हैं, जिनके पास 243-विधानसभा में 160 से अधिक विधायक हैं।

उल्लेखनीय है कि नीतीश और लालू ने पिछले साल सितंबर में 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी एकता की रूपरेखा पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top