Headline
दिल्ली आबकारी नीति घोटाला : बीआरएस नेता के कविता ने दिल्ली की अदालत से जमानत मांगी
टुकड़े-टुकड़े गैंग का नेतृत्व करने वाले लोग दिल्ली वालों के प्रति कितने जिम्मेदार होंगे- मनोज तिवारी
आप नेताओं को जेल भेजने से उनका मनोबल और मजबूत हुआ : संजय सिंह
केजरीवाल की याचिका पर ईडी को नोटिस, सुप्रीम कोर्ट 29 को करेगा अगली सुनवाई
मणिपुर के मुख्यमंत्री को क्यों बर्खास्त नहीं किया गया : कांग्रेस
पीएम मोदी का राहुल पर तंज कहा- यूपी में खानदानी सीट बचाना मुश्किल हुआ तो केरल में बनाया नया ठिकाना
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान

पुरोला मामला: उत्तराखंड सरकार ने कार्रवाई नहीं की, तो हम प्रदर्शन करेंगे: मौलाना तौकीर रजा

बरेली, 17 जून : इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल (आईएमसी) के अध्यक्ष एवं बरेलवी मौलाना तौकीर रजा ने कहा है कि यदि उत्तराखंड सरकार पीढ़ियों से पुरोला में रह रहे मुसलमानों के कथित उत्पीड़न के मामलों को लेकर कोई कार्रवाई नहीं करती है, तो इसके खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा।

पुरोला और उत्तराखंड में उत्तरकाशी जिले के कुछ शहरों में 26 मई को दो व्यक्तियों द्वारा एक हिंदू लड़की को कथित रूप से अगवा करने की कोशिश के बाद से सांप्रदायिक तनाव व्याप्त है। आरोपियों में से एक मुसलमान था।

लड़की के अपहरण की कथित कोशिश को स्थानीय लोगों ने नाकाम कर दिया था, लेकिन इस घटना के बाद पुरोला में अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों की दुकानों के बाहर धमकी भरे पोस्टर दिखाई दिए, जिनमें उन्हें तुरंत शहर छोड़ने के लिए कहा गया था।

मौलाना तौकीर रजा ने शुक्रवार शाम को यहां अपने आवास पर संवाददाताओं से कहा, ”हम चूड़ियां नहीं पहनते। हमें प्रतिक्रिया देने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। अगर उत्तराखंड सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया, तो हम वहां जाकर सरकार का घेराव करेंगे।”

गौरतलब है कि उत्तराखंड वक्फ बोर्ड और हज कमेटी के सदस्यों ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की थी और सांप्रदायिक तनाव से जूझ रहे पुरोला कस्बे में मुसलमानों का ”उत्पीड़न” करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया था। ऐसा बताया गया है कि पुरोला में 26 मई से कम के कम 42 दुकानें बंद कर दी गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top