Headline
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार
किसानों से बात करने के लिए हम हमेशा तैयार : अनुराग ठाकुर
फिर बजा पीएम मोदी का डंका, दुनिया भर के लोकप्रिय नेताओं की सूची में शीर्ष पर काबिज
अखिलेश के ‘पीडीए’ का जवाब स्वामी प्रसाद मौर्य की ‘राष्ट्रीय शोषित समाज’ पार्टी
मोदी ने अमूल के उत्पादक जीसीएमएमएफ को दुनिया की नंबर एक दुग्ध कंपनी बनने का लक्ष्य दिया
भाजपा सरकार ने ‘आर्थिक आतंकवाद’ शुरू किया, हमारे खातों पर ‘डाका डाला गया : कांग्रेस
किसान आंदोलन: संयुक्त किसान मोर्चा आज करेगा बैठक
बिहार : प्रेमिका से विवाह में परिजन बने बाधक, तो युवक ने फंदा लगाकर दे दी जान

नीतीश के राजग में जाने का ‘इंडिया’ गठबंधन पर कोई असर नहीं होगा: रमेश

किशनगंज (बिहार), 29 जनवरी: कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने सोमवार को कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ‘महागठबंधन’ को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में जाने से विपक्षी गठजोड़ ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस (इंडिया) पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के दौरान किशनगंज में संवाददाताओं से बातचीत में रमेश ने कटाक्ष करते हुए कहा कि अब ‘आया कुमार, गया कुमार’ है।

नीतीश कुमार के भाजपा के साथ जाने को लेकर कांग्रेस नेता ने कहा, ”इसका ‘इंडिया’ गठबंधन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा…बिल्कुल कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। ये नीतीश कुमार की शैली है….यह ‘आया राम, गया राम’ नहीं है, बल्कि यह ‘आया कुमार, गया कुमार’ है।”

रमेश ने यह आरोप भी लगाया कि ”नीतीश कुमार द्वारा विश्वासघात” की पूरी भूमिका प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा रची गई थी।

उन्होंने कहा, ”जब 14 जनवरी को मणिपुर के थौबल से भारत जोड़ो न्याय यात्रा शुरू हुई तो प्रधानमंत्री मोदी ने मिलिंद देवरा को कांग्रेस से हटाने के लिए ”मुहूर्त” तय किया। इसलिए, सुर्खियां भारत जोड़ो न्याय यात्रा के बजाय ‘मिलिंद देवरा’ बन गईं।

रमेश ने आरोप लगाया, ”उनकी (भाजपा) नजर भारत जोड़ो न्याय यात्रा के बिहार के किशनगंज में प्रवेश करने पर थी। इसलिए उन्होंने पलटी मारने में महारत रखने वाले नीतीश कुमार को पाला बदलने के लिए कहा… उन्होंने ऐसा ही किया।”

उन्होंने दावा किया कि सोमवार सुबह ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के किशनगंज जिले में पहुंचने के बाद कांग्रेस को यहां की जनता से जबरदस्त समर्थन मिला है। राहुल गांधी के नेतृत्व वाली यह यात्रा पश्चिम बंगाल से बिहार में दाखिल हुई है।

नीतीश कुमार ने रविवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और भाजपा के साथ मिलकर नई सरकार का गठन किया। उन्होंने करीब दो दशक के दौरान नौवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है।

नीतीश ‘इंडिया’ गठबंधन के सूत्रधार थे। उनकी पहल पर ही पिछले साल जून में विपक्षी एकजुटता और फिर इस गठबंधन की बुनियाद रखी गई थी।

नीतीश के राष्ट्रीय जनतांत्रित गठबंधन (राजग) में वापस जाने को विपक्षी दलों के एकजुट होने की कवायद के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top