Headline
हिप्र संकट पर जयराम रमेश का तंज, कहा- मोदी की गारंटी है कांग्रेस की सरकारों को गिराओ
रेलवे जमीन के बदले नौकरी मामला : दिल्ली की अदालत ने राबड़ी देवी और उनकी दो बेटियों को दी जमानत
उप्र का ‘रामराज्य’ दलित,पिछड़े, महिला,आदिवासियों के लिए है ‘मनुराज’ : कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर दी वैज्ञानिक समुदाय को बधाई
तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं
वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति मुर्मू
बिट्टु कुमार सिंह को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्री
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार

‘द वैक्सीन वॉर’ के टिकटों पर ‘बाय वन-गेट वन’ का ऑफर, निर्माता ने की थियेटर तक जाने की अपील

मुंबई, 01 अक्टूबर: बॉक्स ऑफिस पर विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘द वैक्सीन वॉर’ का जादू फीका पड़ने के बाद अब निर्माताओं ने टिकटों पर ‘बाय वन-गेट वन’ का ऑफर शुरू किया है। 28 सितंबर को पूरे विश्व भर में बड़े स्क्रीन पर रिलीज होने के बाद फिल्म कमाई के मामले में कोई कमाल नहीं कर सकी है। निर्माताओं को दर्शकों से फिल्म देखने के लिए थियेटर तक जाने की अपील करनी पड़ रही है।

चूंकि, फिल्म भारत, भारतीय वैज्ञानिकों और महिलाओं की भावना का जश्न मनाती है और देश को सुरक्षित बनाने के लिए टीके विकसित करने में उनके प्रयासों पर भी प्रकाश डालती है, इसलिए निर्माताओं ने टिकटों पर ‘बाय वन-गेट वन’ का ऑफर शुरू किया है। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म के निर्देशक विवेक रंजन अग्निहोत्री ने कहा, “ऐसा कोई नहीं है, जिसके शरीर में यह टीका नहीं है।” हम बहुत आसानी से भूल जाते हैं, लेकिन यह फिल्म प्रयासों की एक बड़ी याद दिलाती है। वैज्ञानिकों के त्याग, संघर्ष और सफलता की वजह से हम आज जीवित हैं। यह फिल्म भारत का उत्सव है, हमारे वैज्ञानिकों का उत्सव है और महान भारतीय भावना का उत्सव है। कृपया अपने परिवार के साथ ‘द वैक्सीन वॉर’ देखें और अपने बच्चों को भी दिखाएं।”

‘द वैक्सीन वॉर’ में अनुपम खेर, नाना पाटेकर, सप्तमी गौड़ा और पल्लवी जोशी मुख्य किरदार में हैं। यह फिल्म उस संकट के समय की कहानी बताती है, जब भारत ने कोरोना वैक्सीन विकसित की थी। यह फिल्म देशभर के सिनेमाघरों में हिंदी, तमिल और तेलुगु में प्रदर्शित हो रही है, लेकिन दर्शकों का टोटा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top