Headline
नारद बाबा के आश्रम पर श्री सहस्त्रचण्डी महायज्ञ को लेकर कलश यात्रा की तैयारी पूरी
दिल्ली की मंत्री आतिशी का अनशन तीसरे दिन भी जारी, कहा हरियाणा से नहीं आ रहा पानी
लोकसभा का सत्र सोमवार से, महताब को प्रोटेम स्पीकर बनाये जाने पर सदन में शोरगुल के आसार
महाराष्ट्र: नीट पेपर लीक मामले में दो शिक्षक गिरफ्तार
अब मोतिहारी में गिरा निर्माणाधीन पुल, एक हफ्ते में तीसरी घटना
इसरो का एक और कीर्तिमान, दोबारा इस्तेमाल हो सकने वाले विमान की तकनीक का तीसरा परीक्षण भी सफल
बिहार में 26 जून से होने वाली शिक्षक सक्षमता परीक्षा स्थगित, जल्द घोषित की जाएगी नई तिथि
निष्पक्षता से प्रश्न पत्र लीक मामले की हो जांच, नहीं तो राजद करेगी खुलासा : तेजस्वी
बिहार के सीवान जिले में गंडक नहर पर बना 30 फीट लंबा पुल गिरा

तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं

चेन्नई, 28 फरवरी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को तमिलनाडु के दक्षिणी थूथुकुडी जिले में कई परियोजनाओं की शुरुआत की जिनसे राज्य में औद्योगिक विकास को बढ़ावा मिलेगा। हेलीकॉप्टर द्वारा मदुरै से थूथुकुडी पहुंचे श्री मोदी ने सड़क परिवहन व राजमार्ग, रेलवे, बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्रालयों द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित कार्यक्रम में 17 हजार करोड़ रुपये से अधिक के निवेश की 36 बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का अनावरण किया।

तमिलनाडु के राज्यपाल आर.एन.रवि, केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल और एल.मुरुगन, राज्य मंत्री ई.वी. वेलु और स्थानीय द्रमुक लोकसभा सांसद सुश्री कनिमोझी, जिनका नाम पहले निमंत्रण सूची से गायब था और बाद में शामिल किया गया था, इस अवसर पर उपस्थित थे।

उन्होंने विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन किया जिसमें वीओ चिदंबरनार बंदरगाह पर बाहरी हार्बर कंटेनर टर्मिनल की आधारशिला रखना, एक अलवणीकरण संयंत्र, हाइड्रोजन उत्पादन और बंकरिंग सुविधा, वीओसी पोर्ट को देश में पहला हरित हाइड्रोजन हब बनाना शामिल है।

श्री मोदी ने हरित नौका पहल के तहत स्वच्छ ऊर्जा समाधानों को अपनाने और देश की नेट-शून्य प्रतिबद्धताओं के साथ संरेखित करने के लिए एक अग्रणी कदम के रूप में देश के पहले स्वदेशी हरित हाइड्रोजन ईंधन सेल अंतर्देशीय जलमार्ग जहाज का भी शुभारंभ किया। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने दस तटीय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में 75 लाइट हाउसों पर पर्यटक सुविधाएं भी समर्पित कीं।

श्री मोदी ने वांची मनियाची-नागरकोइल डबल लाइन और मेलापलायम-अरलवईमोझी खंड को राष्ट्र को समर्पित किया और 4586 करोड़ रुपये की लागत से विकसित जित्तानदाहल्ली-धर्मपुरी खंड, मीनसुरुट्टी-चिदंबरम, ओड्डनचत्रम-मदाथुकुलम और नागपट्टिनम-तंजावुर खंड सहित प्रमुख सड़क परियोजनाएं भी राष्ट्र को समर्पित कीं। इसका उद्देश्य कनेक्टिविटी में सुधार करना, यात्रा के समय को कम करना और सामाजिक-आर्थिक विकास को बढ़ाना है।

दक्षिणी रेलवे की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि श्री मोदी ने वांची मनियाच्ची-तिरुनेलवेली और लाप्पलायम-अरलवायमोली (कुल 86 किलोमीटर) की 1,477 करोड़ रुपये की दोहरीकरण परियोजना शुरू की जिससे तमिलनाडु राज्य को लाभ होगा।

86 किलोमीटर तक फैले वांची मनियाच्ची-तिरुनेलवेली और मेलपलायम-अरलवैमोली खंडों का दोहरीकरण तमिलनाडु के लोगों के लिए एक वरदान होगा। यह परियोजना थूथुकुडी, तिरुनेलवेली और कन्नियाकुमारी जिलों में फैली हुई है।

यह परियोजना अत्यधिक संतृप्त तिरुनेलवेली-नागरकोइल सेक्टर में बेहतर परिचालन दक्षता का मार्ग प्रशस्त करेगी और चेन्नई-नागरकोइल, चेन्नई-कन्याकुमारी और दक्षिणी तमिलनाडु के अन्य शहरों के बीच यात्रा के समय को काफी कम कर देगी।

मदुरै और कन्या कुमारी के बीच महत्वपूर्ण ट्रंक मार्ग में कनेक्टिविटी बढ़ाने में उत्प्रेरक के रूप में कार्य करते हुए, यह परियोजना यात्री और माल ढुलाई सेवाओं के निर्बाध संचालन की सुविधा प्रदान करेगी।

यह वंदे भारत जैसी प्रीमियम ट्रेनों के निर्बाध संचालन का मार्ग प्रशस्त करने के अलावा, बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए और अधिक यात्री ट्रेनों की शुरुआत की गुंजाइश भी प्रदान करेगा। यह अनुभाग परिवहन का एक विश्वसनीय, तेज़ और सस्ता तरीका प्रदान करेगा। बेहतर कनेक्टिविटी से स्थानीय व्यापार और उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा जिससे क्षेत्र में रोजगार के अवसर पैदा होंगे। तूतीकोरिन बंदरगाह में कार्यक्रम के बाद प्रधान मंत्री तिरुनेलवेली जाएंगे जहां वह महाराष्ट्र के लिए रवाना होने से पहले एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top