Headline
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान
भोजपुरी स्टार खेसारी यादव ने शेयर किया अपने अपकमिंग सॉन्ग ‘पातर तिरिया’ का पोस्टर
शाहिद व ईशान ने शेयर की अपने ‘संडे वर्कआउट’ की झलक
एक्‍ट्रेस अनीता हसनंदानी के 43वें जन्मदिन पर पति ने लिखा प्‍यार भरा नोट
एलआईसी को अडाणी के शेयरों में निवेश पर हुआ 59 प्रतिशत का लाभ
आंबेडकर की जयंती पर आप नेताओं ने पढ़ी संविधान की प्रस्तावना
भाजपा ने लोकसभा चुनावों का संकल्प पत्र ‘मोदी की गारंटी 2024’ जारी किया

खडगे, सोनिया, प्रियंका ने वीर भूमि जाकर राजीव को दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली, 20 अगस्त: कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा प्रियंका गांधी वाड्रा ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती पर आज उनके समाधि स्थल वीरभूमि जाकर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

कांग्रेसी नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री के पुत्र राहुल गांधी इन दिनों लेह में हैं और उन्होंने वहां श्री गाँधी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। पार्टी देश भर में पूर्व प्रधानमंत्री की जयंती को सद्भावना दिवस के रूप में मना रहे हैं और उसका कहना है कि पार्टी कार्यकर्ता आधुनिक भारत के प्रणेता को देशभर में याद कर रहा है।

श्री गांधी ने ट्वीट किया “पापा, आपकी आंखों में भारत के लिए जो सपने थे, इन अनमोल यादों से छलकते हैं। आपके निशान मेरा रास्ता हैं – हर हिंदुस्तानी के संघर्षों और सपनों को समझ रहा हूं, भारत मां की आवाज़ सुन रहा हूं।”

श्रीमती वाड्रा ने कहा, “किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार, किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार। किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार, जीना इसी का नाम है……जिन्दा है हमीं से नाम प्यार का कि मर के भी किसी को याद आएंगे किसी के आँसुओं में मुस्कुराएंगे, कहेगा फूल हर कली से बार बार जीना इसी का नाम है।’ ये लाइनें हमेशा आपकी याद दिलाती हैं और आज तक जब भी ये गाना सुनती हूँ, मेरी आँखों में आँसू उभर आते हैं।”

श्री खडगे ने कहा “आज जब हम सद्भावना दिवस मना रहे हैं, तो उनके विशाल योगदान को याद करना प्रासंगिक है, जिसने भारत को 21वीं सदी में आगे बढ़ाया। उनके कई हस्तक्षेप जैसे कि मतदान की आयु 18 वर्ष तक कम करना, पंचायती राज को मजबूत करना, दूरसंचार और आईटी क्रांति, कंप्यूटरीकरण कार्यक्रम, निरंतर शांति समझौते, सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम और समावेशी शिक्षा पर जोर देने वाली एक नई शिक्षा नीति ने देश में परिवर्तनकारी बदलाव लाए। हम राजीव गांधी जी को उनकी जयंती पर हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top