Headline
हिप्र संकट पर जयराम रमेश का तंज, कहा- मोदी की गारंटी है कांग्रेस की सरकारों को गिराओ
रेलवे जमीन के बदले नौकरी मामला : दिल्ली की अदालत ने राबड़ी देवी और उनकी दो बेटियों को दी जमानत
उप्र का ‘रामराज्य’ दलित,पिछड़े, महिला,आदिवासियों के लिए है ‘मनुराज’ : कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर दी वैज्ञानिक समुदाय को बधाई
तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं
वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति मुर्मू
बिट्टु कुमार सिंह को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्री
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार

किम जोंग और पुतिन की मुलाकात से पहले उत्तर कोरिया ने 2 बैलिस्टिक मिसाइलें छोड़ी, जापान ने किया विरोध

सोल, 13 सितंबर : सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ने बुधवार को रूस के सुदूर पूर्व क्षेत्र अमूर में एक दूरस्थ अंतरिक्ष केंद्र में मुलाकात की. उम्मीद है कि दोनों नेता संभावित हथियार सौदे पर चर्चा करेंगे, जिसके परिणामस्वरूप यूक्रेन के साथ चल रहे संघर्ष के दौरान उत्तर कोरिया रूस को हथियारों की आपूर्ति कर सकता है.

सीएनएन ने बताया कि व्लादिमीर पुतिन और किम जोंग उन बुधवार को रूस के अंतरिक्ष रॉकेट प्रक्षेपण स्थल वोस्तोचन कोस्मोड्रोम पहुंचे, जहां दोनों नेताओं ने अंदर जाने से पहले हाथ मिलाया और थोड़ी देर बात की. बाद में फुटेज में किम जोंग-उन को एक काली कार से बाहर निकलते और पुतिन से हाथ मिलाते हुए दिखा गया. किम जोंग उन की रूस में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात से ठीक एक घंटे पहले बुधवार को उत्तर कोरिया ने पूर्वी तट से समुद्र में दो छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं.

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा कि मिसाइलें उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग के पास से लॉन्च की गईं और लगभग 650 किमी (404 मील) तक उड़ान भरी.

विश्लेषकों ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि यह पहला प्रक्षेपण तब हुआ जब किम अपने अधिकांश शीर्ष सैन्य नेताओं के साथ यात्रा के लिए विदेश में थे, जो देश के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों के लिए प्रतिनिधिमंडल के बढ़ते स्तर और अधिक परिष्कृत नियंत्रण प्रणालियों का प्रदर्शन करने पहुंचे है.

सीएनएन ने राज्य मीडिया रूस 1 के पत्रकार का हवाला देते हुए बताया कि वर्तमान में, दोनों नेता वोस्तोचन कोस्मोड्रोम का दौरा कर रहे हैं. रूस के वीडियो में किम जोंग उन को सुदूर वोस्तोचन कोस्मोड्रोम अंतरिक्ष केंद्र पर पहुंचते और उत्तर कोरिया से उन्हें ले जाने वाली हरी ट्रेन से उतरते हुए दिखाया गया है. दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय के अनुसार, उत्तर कोरियाई नेता मंगलवार सुबह-सुबह रूस में दाखिल हुए.

जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव हिरोकाज़ू मात्सुनो ने संवाददाताओं से कहा कि जापान ने बीजिंग में राजनयिक चैनलों के माध्यम से उत्तर कोरिया के खिलाफ विरोध दर्ज कराया है. उन्होंने बताया कि दोनों मिसाइलें जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) के बाहर समुद्र में गिरी हैं.

बता दें कि उत्तर कोरिया की सभी बैलिस्टिक मिसाइल और परमाणु हथियार गतिविधियों पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों द्वारा प्रतिबंध लगा दिया गया है, जिन्हें आखिरी बार 2017 में चीन और रूस में प्योंगयांग के भागीदारों के समर्थन से पारित किया गया था. तब से, बीजिंग और मॉस्को ने राजनयिक वार्ता शुरू करने और मानवीय स्थिति में सुधार करने के लिए उत्तर पर प्रतिबंधों को कम करने का आह्वान किया है.

किम ने 2011 में सत्ता संभालने के बाद और उनके पिता की मृत्यु के बाद छह साल तक अपना देश नहीं छोड़ा था. 2018 और 2019 में उन्होंने नौ अलग-अलग यात्राओं में चीन, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर, वियतनाम और रूस का दौरा किया, लेकिन रूस में उनकी वर्तमान यात्रा तब से पहली है.

सीएनएन ने उत्तर कोरियाई समाचार एजेंसी केसीएनए के हवाले से बताया कि किम जोंग उन रविवार दोपहर पार्टी के शीर्ष अधिकारियों और सरकार और सशस्त्र बलों के सदस्यों के साथ प्योंगयांग से रवाना हुए थे.

इस बीच, क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध बैठक होगी. पेसकोव ने आगे कहा कि किम के आगमन के सम्मान में एक औपचारिक रात्रिभोज की भी योजना बनाई गई है. सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, किम जोंग उन की रूस यात्रा कोविड-19 महामारी के बाद उनकी पहली विदेश यात्रा है, क्योंकि महामारी के दौरान उत्तर कोरिया की सीमाएं सील कर दी गई थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top