Headline
दिल्ली आबकारी नीति घोटाला : बीआरएस नेता के कविता ने दिल्ली की अदालत से जमानत मांगी
टुकड़े-टुकड़े गैंग का नेतृत्व करने वाले लोग दिल्ली वालों के प्रति कितने जिम्मेदार होंगे- मनोज तिवारी
आप नेताओं को जेल भेजने से उनका मनोबल और मजबूत हुआ : संजय सिंह
केजरीवाल की याचिका पर ईडी को नोटिस, सुप्रीम कोर्ट 29 को करेगा अगली सुनवाई
मणिपुर के मुख्यमंत्री को क्यों बर्खास्त नहीं किया गया : कांग्रेस
पीएम मोदी का राहुल पर तंज कहा- यूपी में खानदानी सीट बचाना मुश्किल हुआ तो केरल में बनाया नया ठिकाना
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान

एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल के घर के पास प्रदर्शन किया

नई दिल्ली, 27 जून: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आधिकारिक आवास के पास प्रदर्शन कर आरोप लगाया कि उनकी सरकार शहर के कोचिंग संस्थानों में अग्नि सुरक्षा उपाय करने में ‘लापरवाही’ बरत रही है।

उत्तर-पश्चिम दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके में 15 जून को एक इमारत में आग लग गई थी, जिसमें एक कोचिंग संस्थान संचालित हो रहा था। संस्थान के विद्यार्थी खिड़कियों के शीशे तोड़तक रस्सियों के जरिये इमारत से बाहर निकले थे।

उत्तरी दिल्ली के सिविल लाइंस इलाके में प्रदर्शन कर रहे एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने आम आदमी पार्टी (आप) सरकार पर ‘छात्र विरोधी’ होने का आरोप लगाया और राष्ट्रीय राजधानी में कोचिंग संस्थानों में अग्नि सुरक्षा उपाय करने में ‘लापरवाही’ बरतने का जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने मुखर्जी नगर अग्निकांड में घायल हुए लोगों के लिए मुआवजे की भी मांग की।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि प्रदर्शन स्थल पर बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं और वहां अतिरिक्त बैरिकेड लगाए गए हैं। प्रदर्शन स्थल पर एबीवीपी के एक कार्यकर्ता ने कहा, “कोचिंग संस्थानों में अग्नि सुरक्षा उपाय स्थापित करने में दिल्ली सरकार की ओर से लापरवाही बरती गई है। सरकार का रवैया उसके छात्र विरोधी दृष्टिकोण को दर्शाता है।” मुखर्जी नगर अग्निकांड की जांच के दौरान दो कोचिंग संस्थान के संचालकों को गिरफ्तार किया गया था और बाद में उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top