Headline
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान
भोजपुरी स्टार खेसारी यादव ने शेयर किया अपने अपकमिंग सॉन्ग ‘पातर तिरिया’ का पोस्टर
शाहिद व ईशान ने शेयर की अपने ‘संडे वर्कआउट’ की झलक
एक्‍ट्रेस अनीता हसनंदानी के 43वें जन्मदिन पर पति ने लिखा प्‍यार भरा नोट
एलआईसी को अडाणी के शेयरों में निवेश पर हुआ 59 प्रतिशत का लाभ
आंबेडकर की जयंती पर आप नेताओं ने पढ़ी संविधान की प्रस्तावना
भाजपा ने लोकसभा चुनावों का संकल्प पत्र ‘मोदी की गारंटी 2024’ जारी किया

आई फ्लू फैलने के कारण बाढ़ पीड़ितों के लिए लगाया नेत्र जांच शिविर

-बिधूड़ी ने वितरित की राशन किट, साड़ियां और कपड़े

नई दिल्ली, 23 जुलाई: बदरपुर विधानसभा क्षेत्र में लोगों की सुविधा के लिए आज निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया। यह शिविर जैतपुर पार्ट-2 की विश्वकर्मा कॉलोनी के विश्वकर्मा मंदिर में आयोजित किया गया। इस कॉलोनी में हजारों लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी इस मौके पर उपस्थित रहे। उन्होंने बाढ़ पीड़ितों को राशन किट, साड़ियां और बच्चों के लिए कपड़ों का वितरण भी किया। निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन ‘स्वाभिमान देश का संगठन’ द्वारा आयरिस आई क्लीनिक के सहयोग से किया गया।

संस्था के संस्थापक सुरेंद्र सिंह बिधूड़ी ने बताया कि बाढ़ आने के बाद राजधानी में आई फ्लू बहुत तेजी से फैल रहा है। इसलिए इसी क्षेत्र में नेत्र जांच शिविर का आयोजन इसलिए किया गया है कि ताकि जिनकी आंखें खराब हैं, डॉक्टर उनकी जांच कर सकें और उन्हें दवाई उपलब्ध करा सकें। यही नहीं, लोगों को यह भी बताया गया कि इस बीमारी से बचने के लिए बाहर से आने पर साफ पानी से आंखों को धोएं। सफाई का ध्यान रखें और आई फ्लू होने पर दूसरों से दूर रहें, एक ही तौलिया या कपड़ा इस्तेमाल न करें, साफ कपड़े से ही आंखों को साफ करें। उन्होंने बताया कि बड़ी संख्या में लोगों ने इस कैंप का लाभ उठाया।

इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने बताया कि बाढ़ में विश्वकर्मा कॉलोनी बहुत ज्यादा प्रभावित हुई है। शिविर के साथ ही बाढ़पीड़ितों को राशन किट और कपड़े भी वितरित किए गए। राशन किट में आटा, चावल, दाल, चीनी, चायपत्ती, नमक, सरसों का तेल, साबुन और आलू हैं। कुल मिलाकर 752 लोगों को राशन किट, महिलाओं को साड़ी और बच्चों को पेंट और शर्ट वितरित की गई। बाढ़ के दौरान यहां के लोगों के लिए किचन के साथ-साथ साफ पानी, दवाइयों और शौचालय का भी इंतजाम किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top