Headline
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार
किसानों से बात करने के लिए हम हमेशा तैयार : अनुराग ठाकुर
फिर बजा पीएम मोदी का डंका, दुनिया भर के लोकप्रिय नेताओं की सूची में शीर्ष पर काबिज
अखिलेश के ‘पीडीए’ का जवाब स्वामी प्रसाद मौर्य की ‘राष्ट्रीय शोषित समाज’ पार्टी
मोदी ने अमूल के उत्पादक जीसीएमएमएफ को दुनिया की नंबर एक दुग्ध कंपनी बनने का लक्ष्य दिया
भाजपा सरकार ने ‘आर्थिक आतंकवाद’ शुरू किया, हमारे खातों पर ‘डाका डाला गया : कांग्रेस
किसान आंदोलन: संयुक्त किसान मोर्चा आज करेगा बैठक
बिहार : प्रेमिका से विवाह में परिजन बने बाधक, तो युवक ने फंदा लगाकर दे दी जान

अशोक गहलोत का दावा, राजस्थान में फिर बनेगी कांग्रेस सरकार, लाल डायरी को बताया बीजेपी की साजिश

जयपुर, 23 नवंबर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दावा किया है कि प्रदेश में कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं है और कांग्रेस एक बार फिर से चुनाव जीतकर सरकार बनाएगी. उन्होंने आरोप लगाया कि लाल डायरी और महादेव बेटिंग ऐप जैसे मामलों के पीछे दरअसल बीजेपी की साजिश छिपी है. गहलोत ने कहा कि बीजेपी राजस्थान और छत्तीसगढ़ जैसे कांग्रेस शासित राज्यों में चुनाव जीतने के लिए ऐसी साजिशें रच रही है. राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार का आज आखिरी दिन है. राज्य की सभी 200 सीटों पर 25 नवंबर को मतदान होना है, जबकि नतीजे 3 दिसंबर को आएंगे.

सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से कराई जाए जांच : गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को प्रेस से बातचीत के दौरान आरोप लगाया कि लाल डायरी और महादेव सट्टेबाजी ऐप जैसे मामले राजस्थान और छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव जीतने के लिए रची गई भाजपा की ‘साजिश’ का नतीजा हैं. उन्होंने कहा कि इन मामलों की जांच सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से कराई जानी चाहिए. गहलोत ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार ने इस मामले में जिस व्यक्ति से जबरदस्ती गवाही ली, वो अब कह रहा है कि इन बातों से मेरा कोई संबंध नहीं है. मेरा दुरुपयोग किया गया है. गहलोत ने गुरुवार को जयपुर में किसान नेता रामपाल जाट का कांग्रेस पार्टी में शामिल होने पर स्वागत भी किया.

हमने अपनी दस गारंटी पूरी की : गहलोत

गहलोत ने दावा किया कि राज्य में उनकी सरकार के खिलाफ कोई ‘सत्ता विरोधी’ लहर नहीं है. उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्य में एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनेगी. गहलोत ने कहा, ‘‘जनता जानती है कि हमने अपनी दस गारंटी पूरी कर दी हैं. अगली सात गारंटी के लिए जनता का विश्वास हम पर है… कोई भी राजस्थान में आपको नहीं कहेगा कि सरकार के खिलाफ कोई ‘एंटी इनकंबेंसी’ है. यह हमारी बहुत बड़ी उपलब्धि है. राजस्थान देश का पहला राज्य है जहां किसी भी तरह की सत्ता विरोधी लहर नहीं है.’’ उन्होंने दावा किया, ‘‘दोबारा हमारी सरकार बनने जा रही है.’’ गहलोत ने कहा, ‘‘कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में जो वादे किए हैं उसको लेकर लोग उत्साहित हैं जबकि भाजपा के घोषणा पत्र से उनको निराशा है.’’

पायलट के बारे में पीएम की टिप्पणी पर पलटवार

कांग्रेस के दिवंगत नेता राजेश पायलट के बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए गहलोत ने कहा कि बीजेपी गुर्जर समाज को भड़काने की कोशिश कर रही है. जबकि सच्चाई ये है कि बीजेपी के कार्यकाल में आरक्षण की मांग करने वाले आंदोलन के दौरान पुलिस फायरिंग में गुर्जर समाज के 72 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं, कांग्रेस के शासन में आंदोलनकारियों पर लाठीचार्ज तक नहीं किया गया और 5 फीसदी रिजर्वेशन भी दिया गया है.

पीएम मोदी ने क्या कहा था

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए आरोप लगाया था कि ‘राजेश पायलट ने एक बार कांग्रेस के इस परिवार को, कांग्रेस की भलाई के लिए चुनौती दी थी लेकिन यह परिवार ऐसा है कि राजेश पायलट को तो सजा दी ही, उनके बेटे सचिन पायलट को भी सजा देने में लगे हुए हैं. गहलोत से पहले खुद सचिन पायलट भी पीएम मोदी के इस आरोप का जवाब दे चुके हैं.

सचिन पायलट ने भी दिया पीएम मोदी को जवाब

सचिन पायलट ने बुधवार की रात ही मोदी के आरोप का जवाब देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का बयान तथ्यों से परे है. उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसे बयान जनता का ध्यान भटकाने के लिए दिये जाते हैं. सचिन ने कहा कि उनके पिता जीवन भर एक समर्पित कांग्रेसी रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘मेरे दिवंगत पिता ने 1998 में शरद पवार के साथ मिलकर सीताराम केसरी के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था और उस समय सोनिया गांधी सक्रिय राजनीति में नहीं थीं. केसरी ने वह चुनाव जीता और बाद में पवार और मेरे पिता, दोनों को कार्य समिति में मनोनीत किया. एक स्वस्थ लोकतांत्रिक संगठन और राजनीतिक दल को इसी तरह काम करना चाहिए.’ सचिन पायलट ने कहा कि “मुझे भी बहुत कम उम्र में संसद सदस्य बनने का मौका दिया गया और मैंने कई वर्षों तक केंद्र सरकार और राज्य स्तर पर कई जिम्मेदारियां निभाई हैं.’ पायलट ने कहा कि वह कांग्रेस की कार्य समिति में हैं और उन्हें जो जिम्मेदारियां दी गई हैं, उन्होंने उसका निर्वहन किया है और आगे भी करते रहेंगे.’

गलत बयानों के जरिए ध्यान भटकाने की कोशिश : सचिन पायलट

राजस्थान के पूर्व उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके पिता राजेश पायलट इंदिरा गांधी से प्रेरणा लेकर कांग्रेस में शामिल हुए थे और जीवन भर सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ाई लड़ते रहे. सचिन ने कहा कि ‘कई दशकों से हमारे सम्बन्ध गांधी परिवार और कांग्रेस पार्टी के साथ हैं और ये रिश्ता दिल का है…मुझे लगता है इसमें किसी को बहुत ज्यादा बयान देने की जरूरत नहीं है. मुझे लगता है कि बीजेपी को मतदाताओं के बीच लोकप्रियता नहीं मिल रही है, इसलिए वे तथ्यात्मक रूप से गलत बयानों के जरिए ध्यान भटकाना चाहते हैं. यह इस बात का संकेत है कि बीजेपी बैकफुट पर है.’ उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस ने पिछले दिनों हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में सरकारें बनाई हैं और अब छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी सरकार बनाने जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top