Headline
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार
किसानों से बात करने के लिए हम हमेशा तैयार : अनुराग ठाकुर
फिर बजा पीएम मोदी का डंका, दुनिया भर के लोकप्रिय नेताओं की सूची में शीर्ष पर काबिज
अखिलेश के ‘पीडीए’ का जवाब स्वामी प्रसाद मौर्य की ‘राष्ट्रीय शोषित समाज’ पार्टी
मोदी ने अमूल के उत्पादक जीसीएमएमएफ को दुनिया की नंबर एक दुग्ध कंपनी बनने का लक्ष्य दिया
भाजपा सरकार ने ‘आर्थिक आतंकवाद’ शुरू किया, हमारे खातों पर ‘डाका डाला गया : कांग्रेस
किसान आंदोलन: संयुक्त किसान मोर्चा आज करेगा बैठक
बिहार : प्रेमिका से विवाह में परिजन बने बाधक, तो युवक ने फंदा लगाकर दे दी जान

हिमाचल की फैक्टरी में आग लगने के बाद 13 श्रमिक लापता, बचाव अभियान जारी

शिमला, 03 फरवरी : हिमाचल प्रदेश में सोलन जिले के बद्दी औद्योगिक क्षेत्र में एक सौंदर्य प्रसाधन उत्पाद बनाने वाले कारखाने में भीषण आग लगने के एक दिन बाद शनिवार को 13 लापता कर्मचारियों के लिए बचाव अभियान चलाया गया।

पुलिस ने बताया कि इस हादसे में एक महिला की मौत हो गयी है और 31 अन्य घायल हो गए हैं।

आग लगने की घटना शुक्रवार को अपराह्न करीब पौने तीन बजे एनआर अरोमा में हुई और अभी तक उस पर काबू नहीं पाया जा सका है।

सोलन के उपायुक्त मनमोहन शर्मा ने शनिवार को बताया कि घटना के समय करीब 50 लोग इमारत में थे और उनमें से कुछ अपने घर भाग गए जबकि 13 लोगों के अब भी लापता होने की आशंका है।

उन्होंने बताया कि घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं। आग पर अभी काबू नहीं पाया जा सका है क्योंकि परफ्यूम और अन्य सौंदर्य प्रसाधन बनाने में इस्तेमाल होने वाले ज्वलनशील पदार्थ में आग लग गयी है।

पुलिस ने बताया कि लापरवाही का एक मामला दर्ज किया गया है और जांच की जा रही है।

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, राज्य आपदा मोचन बल, पुलिस, राजस्व और अन्य दल बचाव अभियान में लगे हुए हैं।

शर्मा ने कहा, ”लोग अपनी जान बचाने के लिए इमारत की पहली और दूसरी मंजिल से कूद गए और उन्हें हाथ, पैर तथा कुछ को तो रीढ़ की हड्डी में भी चोटें आयी हैं।”

उन्होंने बताया कि आग लगने की वजह अभी पता नहीं चली है और फॉरेंसिक का एक दल जांच कर रहा है।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सौंदर्य प्रसाधन सामग्री से निकल रहे धुएं के गुबार के चलते आग पर काबू पाने में बाधा आई और श्रमिक जान बचाने के लिए इमारत की छत पर चढ़ गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top