Headline
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर डीयू में एक हजार लोगों ने किया सामूहिक योगाभ्यास
दिल्ली जल संकट: हरियाणा से अधिक पानी की मांग के लिए आतिशी ने शुरू की भूख हड़ताल
दिल्ली कांग्रेस ने नीट ‘पेपर लीक’ को लेकर भाजपा कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया
ईडी ने मुख्यमंत्री के जमानत आदेश को अदालत की वेबसाइट पर अपलोड होने से पहले ही चुनौती दे दी: सुनीता
केजरीवाल की जमानत को उच्च न्यायालय में ईडी ने दी चुनौती
भाजपा के सांसद सांसद भर्तृहरि महताब लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर बनाये गये
योग का दुनिया भर में विस्तार, योग से जुड़ी धारणाएं बदली हैं : मोदी
योग का दुनिया भर में विस्तार, योग से जुड़ी धारणाएं बदली हैं : मोदी
नीट पेपर लीक मामले में आरोपियों ने कबूला, एक दिन पहले मिल गया था प्रश्न पत्र

सीएम नीतीश कुमार ने अमित शाह की यात्रा पर कहा- हर कोई बिहार आने के लिए स्वतंत्र

पटना, 29 जून: केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की बृहस्पतिवार को बिहार के लखीसराय की यात्रा से पहले सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हर कोई राज्य में आने के लिए स्वतंत्र है। पटना में 23 जून को हुई विपक्षी दलों की बैठक के बाद शाह का बिहार दौरा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के किसी शीर्ष नेता की पहली यात्रा है।

विपक्षी दलों के बैठक का मकसद अगले वर्ष होने वाले आम चुनाव में भाजपा के खिलाफ एकजुट होने और पार्टी को हराने की रणनीति तैयार करना था। नीतीश ने यहां संवाददाताओं से बातचीत के दौरान वह समान नागरिक संहिता पर प्रधानमंत्री की पुरजोर वकालत के मामले में प्रश्न से साफ बचते नजर आए। शाह की लखीसराय की यात्रा के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि ‘‘यहां आने के लिए हर कोई स्वतंत्र है।

बिहार आने का हक सभी को है।’’ विपक्षी दलों की बैठक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘बैठक समाप्त हो चुकी है…हम इस पर बाद में बातचीत करेंगे।’’ शाह का आज दोपहर यहां जय प्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने का कार्यक्रम है। शाह हेलीकॉप्टर से मुंगेर जिले के लखीसराय के लिए रवाना होंगे, जहां वह एक रैली को संबोधित करेंगे।

पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सम्राट चौधरी और बिहार के केंद्रीय मंत्रियों सहित भाजपा के वरिष्ठ नेता उनका स्वागत करेंगे। शाह जनसभा को संबोधित करने से पहले भगवान शिव और देवी पार्वती के प्रसिद्ध मंदिर अशोक धाम में पूजा-अर्चना भी करेंगे। शाह तीन महीने पहले बिहार आए थे।

इसबीच शाह के आगमन से पहले सत्तारूढ़ महागठबंधन दलों के समर्थकों ने तथा भाजपा के समर्थकों ने हवाई अड्डे के निकट तथा पटना के अन्य स्थानों पर पोस्टर लगाए हैं। विपक्षी दलों के पोस्टर में मणिपुर में हिंसा के लिए साथ ही केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो, प्रवर्तन निदेशालय तथा आयकर विभाग के दुरुपयोग के लिए भाजपा नेतृत्व की आलोचना की गई है।

इसके विपरीत भाजपा समर्थकों के पोस्टर में विपक्षी दलों की एकता पर कटाक्ष किया गया है। पोस्टर युद्ध के बारे में पूछे जानेपर सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा, ‘‘पार्टी का इन पोस्टर से कोई लेना-देना नहीं है। यह पार्टी कार्यकर्ताओं की परिकल्पना है और उन्होंने ही पोस्टर शहर में लगाए हैं।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top