Headline
दूसरा चरण: पर्यवेक्षकों के साथ कॉन्फ्रेंस कर चुनाव आयोग ने दिए निर्देश
आम चुनाव के पहले चरण में 102 सीटों पर मतदान की तैयारी पूरी, शुक्रवार सुबह सात बजे से मतदान
कुतुब मीनार का दीदार करने भारी संख्या में पहुंचे पर्यटक, फ्री टिकट का जमकर उठाया लुत्फ
संविधान बदलने और वोट का अधिकार छीनने के लिए मोदी मांग रहे 400 सीटें : आप
मनीष सिसोदिया की रिहाई पर ग्रहण, न्यायिक हिरासत 26 अप्रैल तक बढ़ी
केजरीवाल ‘टाइप 2’ मधुमेह होने के बावजूद आम और मिठाई खा रहे: ईडी ने अदालत से कहा
धनबल, मंदिर-मस्जिद के नाम पर वोट का न हो गलत इस्तेमाल : मायावती
सेना और सुरक्षाबलों का अपमान कांग्रेस और इंडी गठबंधन की पहचान : शहजाद पूनावाला
तेजस्वी की सभा में चिराग पासवान को गाली दिए जाने की घटना को बिहार भाजपा अध्यक्ष ने बताया पीड़ादायक

सत्येंद्र जैन जेल के बाथरूम में गिरे, एलएनजेपी के आईसीयू में भर्ती

नई दिल्ली, 25 मई: दिल्ली के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन गुरुवार को जेल के बाथरूम में गिर गए, जिसके बाद उन्हें दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत बिगड़ने के बाद उन्हें एलएनजेपी के आईसीयू में लाया गया और आक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है।

दिल्ली सरकार की ओर से गुरुवार को मिली जानकारी के अनुसार, सत्येंद्र जैन सुबह जेल के बाथरूम में चक्कर आने की वजह से गिर गए थे, जिससे उनके सिर और पीठ में चोट आई है। इससे उन्हें सांस लेने में दिक्कत महसूस हो रही है। उन्हें एलएनजेपी अस्पताल के आईसीयू में ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है।

बीत एक सप्ताह में तबीयत खराब होने पर उन्हें आज दूसरी बार अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इससे पहले भी वे जेल के बाथरूम में गिर गए थे और उनके रीढ़ की हड्डी में गंभीर चोटें आई थीं। आम आदमी पार्टी ने सत्येंद्र जैन की इस हालत के लिए भारतीय जनता पार्टी को जिम्मेदार बताया है।

‘आप’ के वरिष्ठ नेता एवं कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि सत्येंद्र जैन के बारे में कई दिनों से परेशान करने वाली खबरें आ रही हैं। पिछले एक साल के अंदर उनका वजह करीब 36 किलो कम हुआ है। सोशल मीडिया पर उनकी जो तस्वीर देखी, वह काफी डराने वाली है। तस्वीर में वे काफी कमजोर दिख रहे हैं।

भारद्वाज ने बताया कि गिरने की वजह से सत्येंद्र जैन के सिर में चोट आई है। एलएनजेपी में न्यूरो विभाग है। इसलिए एमआरआई के लिए उनको एलएनजेपी अस्पताल लेकर जाया गया है। वहां पर उनका अभी इलाज चल रहा है। टेस्ट की रिपोर्ट आने के बाद ही उनके स्वास्थ्य के बारे में पूरी जानकारी मिल पाएगी। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद से उनको सांस लेने में दिक्कत रहती है, इसलिए वे रात में सोने के दौरान बीआईपीएपी मशीन लगाकर सोते हैं।25

‘आप’ नेताओं ने की सत्येंद्र जैन के जल्द स्वस्थ होने की कामना

आम आदमी पार्टी के कई नेताओं ने पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। ‘आप’ के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने सत्येंद्र जैन के स्वस्थ होने की कामना करते हुए कहा है कि जुर्म का अंत होगा। तानाशाह हटेगा। वक्त बदलेगा। राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा ने ट्वीट कर कहा है कि दिल्ली की जनता को अच्छा स्वास्थ्य देने वाले शख्स आज एक तानाशाह सरकार के जुल्मों के खिलाफ जान की बाजी लगाकर संघर्ष कर रहा है। आज सत्येंद्र जैन के साथ ऐसा बर्ताव होने दिया गया, तो भविष्य में कोई आम आदमी देश सेवा का सपना नहीं देखेगा। सारा देश जैन के लिए प्रार्थना कर रहा है।

स्वास्थ्य कारणों से सत्येंद्र जैन ने की अंतरिम जमानत की अपील

– सत्येंद्र जैन को पीठ के निचले हिस्से में तेज दर्द और संबंधित वर्टिगो है। वे स्लिप्ड डिस्क के कारण पीठ के निचले हिस्से में पुराने दर्द से पीड़ित हैं। दर्द उनके निचले अंगों तक फैल जाता है और लगातार झुनझुनी, सुन्नता की स्थिति में ले जाता है। उनके गर्दन में भी दर्द है, जो उसके ऊपरी बांहों को प्रभावित करता है। उन्हें चलने में भी भारी परेशानी होती है।

– दवाओं के साथ पिछले 10 महीने का कंजरर्वेटिव उपचार किया गया है। साथ ही फिजियोथेरेपी भी की गई है। उनकी एनेस्थीसिया के तहत दो सर्जरी भी की गई है। फिर भी समस्या बनी रहती है और वे अपने पैरों में सुन्नता, दर्द और कमजोरी से जूझ रहे हैं। 58 वर्षीय सत्येंद्र जैन को बार-बार होने वाले दर्द के कारण चलने में भी कठिनाई होती है।

– 03 मई 2023 को सत्येंद्र जैन की एमआरआई हुई थी। इसकी रिपोर्ट उनके सभी इंटरवर्टेब्रल डिस्क में अवनति को दर्शाता है। इसलिए उन्हें तत्काल स्पाइनल/वर्टेब्रल सर्जरी और उचित पोस्ट-ऑपरेटिव देखभाल की आवश्यकता है। उनको प्रतीक्षा सूची में नंबर 416 के रूप में रखा गया है। उम्मीद की जाती है कि अगर वे हिरासत में रहते हैं, तो अगले 5 महीनों के बाद ही उनकी सर्जरी हो पाएगी। इसके अलावा, उनको उच्च प्रोटीन आहार और पर्याप्त धूप में रहने की भी सिफारिश की गई है।

– सत्येंद्र जैन स्लीप एपनिया से पीड़ित हैं, जिसका अर्थ है कि सोते समय उनकी सांस अक्सर रुक जाती है। यह गंभीर स्थिति है जो मौत का कारण बन सकती है। उनको बीआईपीएपी मशीन की मदद से सोना पड़ता है, जो लगातार उसके फेफड़ों में हवा भरती है।

– सत्येंद्र जैन का वजन घटना बेहद चिंताजनक है। उनके जेल में पिछले एक साल के दौरान 35 किलो वजन कम हो गया है। वे मस्कुलर एट्रोफी से भी पीड़ित हैं, इसलिए उनके शरीर में ताकत और मांस दोनों कम होती जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top