Headline
दिल्ली आबकारी नीति घोटाला : बीआरएस नेता के कविता ने दिल्ली की अदालत से जमानत मांगी
टुकड़े-टुकड़े गैंग का नेतृत्व करने वाले लोग दिल्ली वालों के प्रति कितने जिम्मेदार होंगे- मनोज तिवारी
आप नेताओं को जेल भेजने से उनका मनोबल और मजबूत हुआ : संजय सिंह
केजरीवाल की याचिका पर ईडी को नोटिस, सुप्रीम कोर्ट 29 को करेगा अगली सुनवाई
मणिपुर के मुख्यमंत्री को क्यों बर्खास्त नहीं किया गया : कांग्रेस
पीएम मोदी का राहुल पर तंज कहा- यूपी में खानदानी सीट बचाना मुश्किल हुआ तो केरल में बनाया नया ठिकाना
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान

विपक्षी दलों की बैठक को मिला आप का साथ, दिल्ली अध्यादेश पर कांग्रेस के समर्थन से गदगद हुई पार्टी

नई दिल्ली, 17 जुलाई: आम आदमी पार्टी (आप) ने बेंगलुरु में विपक्ष की बैठक से पहले आज पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) की बैठक बुलाई-इस बैठक में राघव चड्ढा, दिल्ली पीडब्लूडी मंत्री आतिशी सहित पार्टी के कई बड़े नेता पहुंचे-बैठक दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई-इस बैठक में फैसला लिया गया कि 17-18 जुलाई को बेंगलुरु में होने वाली विपक्षी दलों की बैठक में आम आदमी पार्टी हिस्सा लेगी-

विपक्षी दलों की बैठक में हिस्सा लेगी आप

पीएसी की बैठक के बाद आप नेता राघव चड्ढा ने कहा कि, ‘बैठक में विस्तार से हर पहलू पर चर्चा हुई-यह अध्यादेश राष्ट्र विरोधी है-जो भी देश से प्यार करता है वह इसके विरोध में खड़ा है-आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने देश भर की पार्टी से इसपर समर्थन मांगा-तमाम बड़ी पार्टियों ने केजरीवाल के आह्वान पर अपना समर्थन किया-आज कांग्रेस ने इस अध्यादेश पर अपना स्टैंड क्लीयर किया-हम कांग्रेस की इस फैसले का स्वागत करते हैं-आम आदमी पार्टी विपक्षी दलों की बैठक में हिस्सा लेगी-राष्ट्र विरोधी व्यक्ति ही इस अध्यादेश का समर्थन करेगा.’

केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ मिला कांग्रेस का साथ

बता दें कि, दिल्ली अध्यादेश को लेकर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) अब एक साथ आ गई है-कांग्रेस केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ आप का साथ देगी-वहीं इस मुद्दे पर कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने स्पष्ट रूप से केंद्र सरकार के अध्यादेश का विरोध करने की बात कही-कांग्रेस का इस फैसले के बाद दी आप ने फैसला किया की उनकी पार्टी विपक्षी दलों की बैठक में हिस्सा लेगी.

अध्यादेश के खिलाफ समर्थन मांन रहे अरविंद केजरीवाल

दरअसल, दिल्ली सीएम केजरीवाल केंद्र के लाए अध्यादेश के खिलाफ विपक्षी दलों का समर्थन मांग रहे हैं-अगर राज्यसभा में सीएम केजरीवाल को विपक्षी दलों का समर्थन मिलता है तो केंद्र के अध्यादेश को कानून बनने से रोका जा सकता है-इसी एजेंडे को लेकर सीएम केजरीवाल पटना में हो रही विपक्षी दलों की बैठक में भी पहुंचे थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top