Headline
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान
भोजपुरी स्टार खेसारी यादव ने शेयर किया अपने अपकमिंग सॉन्ग ‘पातर तिरिया’ का पोस्टर
शाहिद व ईशान ने शेयर की अपने ‘संडे वर्कआउट’ की झलक
एक्‍ट्रेस अनीता हसनंदानी के 43वें जन्मदिन पर पति ने लिखा प्‍यार भरा नोट
एलआईसी को अडाणी के शेयरों में निवेश पर हुआ 59 प्रतिशत का लाभ
आंबेडकर की जयंती पर आप नेताओं ने पढ़ी संविधान की प्रस्तावना
भाजपा ने लोकसभा चुनावों का संकल्प पत्र ‘मोदी की गारंटी 2024’ जारी किया

रेहड़ी पटरी मालिकों ने लगाया आरोप, महंगी कीमतों पर बेच सकें सामान इसलिए हटा दी हमारी दुकानें

नई दिल्ली, 29 जून : राजधानी के धौलाकुंआ इलाके से हटाए गए रेहड़ी पटरी वालों ने दिल्ली मेट्रो पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि राजस्थान बस स्टैंड के पास से अतिक्रमण के नाम पर निजी स्वार्थ को लेकर डीएमआरसी, दिल्ली कैंट बोर्ड के टाउन वेंडिंग कमिटी सदस्य एसडीएम, निगम के अधिकारियों ने करीबन तीन दशक से यहां काम कर रहे लोगों को हटा दिया जबकि वह यातायात में बाधक नहीं थे।

स्ट्रीट वेंडर एक्ट 2014 आजीविका का संरक्षण व विक्रय अधिनियम, दिल्ली की वेंडर स्कीम 2019, स्ट्रीट वेंडर्स रूल 2017 का उल्लंघन बताते हुए रेहड़ी पटरी वालों ने कहा कि एक तरफ दिल्ली कैंट बोर्ड द्वारा इनका सर्वे किया गया दूसरी तरफ इनको उजाड़ दिया गया जबकि यह अनैतिक व असंवैधानिक है।

यहां पटरी लगाने वालों ने बताया कि दुकानें मेट्रो लाइन के बराबर एरो सिटी से पिंक लाइन को जोडऩे वाले पैदल एस्केलेटर से 70 फुट की दूरी पर डीडीए की जमीन पर है फिर भी मेट्रो ने दुकानें हटाई हैं। जबकि धौला कुआं मेट्रो स्टेशन पर दिन रात कंपनियों की दुकानें चलती हैं। वह ऊंचे दामों में कोल्ड डिं्रक्स, पानी, चिप्स बेचते हैं हम किफायती दरों पर बेचते हैं इसीलिए हमारी दुकानों को हटाया गया है। जी-20 के नाम पर गरीबों से अत्याचार बर्दाश्त काबिल नहीं हैं, आयोजन में शामिल होने वाले वोट नहीं देंगे, ये गरीब परिवार जरूर देंगे इसलिए यहां दुकानों को दोबारा लगवाने की अनुमति दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top