Headline
हिप्र संकट पर जयराम रमेश का तंज, कहा- मोदी की गारंटी है कांग्रेस की सरकारों को गिराओ
रेलवे जमीन के बदले नौकरी मामला : दिल्ली की अदालत ने राबड़ी देवी और उनकी दो बेटियों को दी जमानत
उप्र का ‘रामराज्य’ दलित,पिछड़े, महिला,आदिवासियों के लिए है ‘मनुराज’ : कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर दी वैज्ञानिक समुदाय को बधाई
तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं
वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति मुर्मू
बिट्टु कुमार सिंह को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्री
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार

मानसून सत्र के पहले दिन हंगामे के बीच अनुपूरक विवरण सदन में प्रस्तुत

पटना, 10 जुलाई: बिहार विधानमंडल के मॉनसून सत्र के पहले दिन सदन की कार्यवाही शुरू होने पर विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी ने अपनी बात रखी।

वित्त मंत्री विजय चौधरी ने प्रथम अनुपूरक व्यय विवरण सदन में प्रस्तुत किया।. इसके बाद सदन में शोक प्रकाश पढ़ा गया। स्पीकर ने जननायकों के निधन पर शोक प्रकट किया। इसके बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी गई।

स्पीकर ने पहले दिन आसन से अध्याशी सदस्यों के नाम का ऐलान किया।इसके बाद विस सचिव ने सदन में मंत्री विजय चौधरी ने प्रथम अनुपूरक व्यय विवरण सदन में प्रस्तुत किया।. इसके बाद सदन में शोक प्रकाश पढ़ा गया। स्पीकर ने जननायकों के निधन पर शोक प्रकट किया। इसके बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी गई।

वित्त मंत्री विजय चौधरी ने बिहार विधान मंडल में वित्तीय वर्ष 2023-24 के आय-व्ययक से संबंधित प्रथम अनुपूरक व्यय विवरणी प्रस्तुत किया। इसके तहत वित्तीय वर्ष 2023-24 में 43,774.7581 करोड़ की राशि प्रस्तावित है।

वार्षिक स्कीम के अन्तर्गत 25,699.8640 करोड़ रुपये की राशि का प्रावधान प्रथम अनुपूरक आगणन में प्रस्तावित किया गया। जिसमें केन्द्रीय प्रायोजित स्कीम के केन्द्रांश मद में 1,097.1407 करोड़ रुपये एवं राज्यांश मद में 8,739,6592 करोड़ रुपये अर्थात कुल 9,836,7999 करोड़ रुपये में स्कीम वार केंद्र प्रायोजित स्कीम (केन्द्रांश) में 404.09 करोड़ रुपये मनरेगा योजना के लिए।166.48 करोड़ रुपये प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लिए,85.00 करोड़ रुपये राष्ट्रीय पोषण मिशन हेतु, 80.00 करोड़ रुपये राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना हेतु,100.00 करोड़ रुपये राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन हेतु,50.39 करोड़ रुपये सक्षण आंगनबाड़ी पोषण -2.0 हेतु,41.40 करोड़ रुपये प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा निधि योजना हेतु है।

दूसरी ओर केन्द्रीय प्रायोजित स्कीम (राज्यांश) मद में 6223.01 करोड़ रुपये समग्र शिक्षा अभियान हेतु,436.00 करोड़ रुपये राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हेतु,380.00 करोड़ रुपये मनरेगा योजना के लिए होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top