Headline
बिहार में 26 जून से होने वाली शिक्षक सक्षमता परीक्षा स्थगित, जल्द घोषित की जाएगी नई तिथि
निष्पक्षता से प्रश्न पत्र लीक मामले की हो जांच, नहीं तो राजद करेगी खुलासा : तेजस्वी
बिहार के सीवान जिले में गंडक नहर पर बना 30 फीट लंबा पुल गिरा
बिहार की आर्थिक अपराध इकाई ने केंद्र को सौंपी नीट पेपर लीक मामले की रिपोर्ट
मुख्यमंत्री ने दो दिवसीय आम महोत्सव-2024 का किया उद्घाटन
भारत-बंगलादेश गंगा जल संधि की समीक्षा करेंगे, बंग्लादेशी नागरिकों को इलाज के लिए ई-वीजा मिलेगा
जल संकट को लेकर आतिशी का अनिश्चितकालीन अनशन दूसरे दिन भी जारी
एंटी पेपर लीक कानून लागू, आधी रात को नोटिफिकेशन, 10 साल जेल, 1 करोड़ का जुर्माना
हसीना का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत

बिहार : पूर्व विधायक का जेल में जान से मारने की साजिश का आरोप, झड़प में कैदी और अधिकारी घायल

पटना, 17 जुलाई: पटना के बेउर केंद्रीय कारागार में पूर्व विधायक अनंत सिंह के नेतृत्व में कुछ कैदियों के अपने वार्ड को ”जानबूझकर खुला रखने” का विरोध किये जाने के दौरान हुई झड़प में कैदी समेत आठ लोग घायल हो गए।

मोकामा के पूर्व विधायक ने आरोप लगाया कि जेल परिसर के अंदर उनकी हत्या की साजिश रची जा रही है।

घटना के बाद पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं और एक जेल अधिकारी को निलंबित कर दिया है।

उन्होंने बताया कि स्थानीय पुलिस ने जेल परिसर के अंदर हंगामा करने के आरोप में कुछ कैदियों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज की है।

जिलाधिकारी ने कहा, ”घटना रविवार सुबह करीब साढ़े सात बजे हुई जब अनंत सिंह के नेतृत्व में करीब 40 कैदियों ने जेल के अंदर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया और आरोप लगाया कि उनके वार्ड को पिछली रात जानबूझकर खुला रखा गया था।”

उन्होंने कहा, ”जेल अधिकारियों ने विरोध कर रहे कैदियों को शांत करने की कोशिश की लेकिन जब वे नहीं माने तो जेल में अतिरिक्त बल भेजा गया। स्थिति को नियंत्रण में लाया गया और विरोध करने वाले अधिकांश कैदियों को उनकी कोठरी में वापस भेज दिया गया। बहरहाल, अनंत सिंह और 10 अन्य कैदियों ने प्रदर्शन जारी रखा। इसके बाद जेल अधिकारियों के साथ हाथापाई हुई और हल्का बल प्रयोग किया गया। कुछ कैदियों को अन्य कोठरियों में स्थानांतरित कर दिया गया।”

उन्होंने बताया कि सभी घायल कैदी और जेल अधिकारी फिलहाल खतरे से बाहर हैं।

अभी यह स्पष्ट नहीं है कि घायलों में अनंत सिंह भी शामिल था या नहीं।

जिलाधिकारी ने कहा, ”मैंने घटना की जांच के आदेश दिए हैं और 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट मांगी है। एक जेल अधिकारी को भी निलंबित कर दिया गया है।”

उन्होंने बताया कि स्थानीय पुलिस ने जेल परिसर में हंगामा करने के आरोप में कुछ कैदियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

जिला प्रशासन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि अनंत सिंह का आरोप है कि जेल के अंदर उनकी हत्या की साजिश रची जा रही है।

सिंह बेउर केंद्रीय कारागार में है। पिछले साल पटना की सांसद-विधायक (एमपी-एमएलए) अदालत ने उसे 2015 के एक मामले 10 साल के कठोर कारावास की सजा सुनायी थी। यह मामला पुलिस को उसके आधिकारिक आवास से छह राइफल मैगजीन सहित कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद किए जाने से जुड़ा है।

अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी फिलहाल मोकामा से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की विधायक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top