Headline
हिप्र संकट पर जयराम रमेश का तंज, कहा- मोदी की गारंटी है कांग्रेस की सरकारों को गिराओ
रेलवे जमीन के बदले नौकरी मामला : दिल्ली की अदालत ने राबड़ी देवी और उनकी दो बेटियों को दी जमानत
उप्र का ‘रामराज्य’ दलित,पिछड़े, महिला,आदिवासियों के लिए है ‘मनुराज’ : कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर दी वैज्ञानिक समुदाय को बधाई
तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं
वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति मुर्मू
बिट्टु कुमार सिंह को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्री
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार

दीमक की तरह रिश्तों को खोखला कर देता है शक

अगर जीवनसाथी के प्रति मन में घोर अविश्वास हो तो रिश्ते में कटुता आना स्वाभाविक है, ऐसे में बने बनाए रिश्ते कब टूटने लगते हैं इसका पता ही नहीं चल पाता। मगर यह बात याद रखिए कि शक का कोई इलाज नहीं है, यह ऐसा दीमक है जो रिश्तों को पूरी तरह से खोखला कर देता है। इसलिए थोड़ी-सी समझबूझ और आपसी तालमेल से आप इन टूटे रिश्तों को बचा सकते हैं। वहीं इन स्थितियों में परिवार का साथ भी बहुत जरूरी है। परिवार के सदस्यों के सहयोग से रिश्तों को टूटने से बचाया जा सकता है। इन स्थितियों में कुछ खास बातों का ध्यान रखा जाना आवश्यक है-

-अपनी गलती को स्वीकार करें क्योंकि गलती न मानने से झगड़े और बढ़ेंगे।

-झूठ को अपने रिश्तों से कोसों दूर रखेंगे तो ही अच्छा है। यह बात जान लीजिए कि एक झूठ को छिपाने के लिए अक्सर सौ और झूठ बोलने पड़ते हैं। इससे आपकी छवि पार्टनर के सामने धूमिल हो सकती है।

-विश्वास पति-पत्नी के रिश्ते की बुनियाद होता है। बिना विश्वास के गृहस्थी की गाड़ी चलती नहीं बल्कि इसे ढोना पड़ता है।

-माफी मांगने की जरूरत हो तो तुरंत मांगिए इससे आपका कद कम नहीं होगा बल्कि बढ़ेगा ही।

-व्यवहार में शालीनता लाएं। अपनी गलती दूसरों पर थोपने या फिर खुद की वजह से औरों पर झुंझलाहट निकालने से किसी भी समस्या का हल नहीं निकल सकता।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top