Headline
दिल्ली आबकारी नीति घोटाला : बीआरएस नेता के कविता ने दिल्ली की अदालत से जमानत मांगी
टुकड़े-टुकड़े गैंग का नेतृत्व करने वाले लोग दिल्ली वालों के प्रति कितने जिम्मेदार होंगे- मनोज तिवारी
आप नेताओं को जेल भेजने से उनका मनोबल और मजबूत हुआ : संजय सिंह
केजरीवाल की याचिका पर ईडी को नोटिस, सुप्रीम कोर्ट 29 को करेगा अगली सुनवाई
मणिपुर के मुख्यमंत्री को क्यों बर्खास्त नहीं किया गया : कांग्रेस
पीएम मोदी का राहुल पर तंज कहा- यूपी में खानदानी सीट बचाना मुश्किल हुआ तो केरल में बनाया नया ठिकाना
सतुआन पर सुलतान पोखर में दर्जनों बच्चों का हुआ मुंडन संस्कार
‘भाजपा के घोषणा पत्र में महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी को हटाने का जिक्र नहीं’, तेजस्वी यादव का दावा
रीवा में 44 घंटे तक रेस्क्यू के बाद भी बोरवेल में गिरे मासूम की नहीं बच पाई जान

दिल्ली में एनडीए की बैठक शुरू, 38 दलों के साथ पीएम मोदी भी मौजूद, जाने सभी दलों के नाम

नई दिल्ली, 18 जुलाई: अगले वर्ष लोकसभा चुनावों के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की आज यहां बहुचर्चित बैठक शुरू हुई जिसमें बड़ी छोटी 38 क्षेत्रीय पार्टियों के नेताओं के साथ वर्ष 2024 लोकसभा चुनावों में विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ से मुकाबला करने के लिए एक संयुक्त रणनीति पर चर्चा होनी है।

राजधानी के अशोक होटल में आयोजित इस बैठक में प्रधानमंत्री श्री मोदी भी भाग ले रहे हैं। श्री मोदी के पहुंचने पर भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, शिवसेना के नेता एवं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिन्दे, बिहार के हिन्दुस्तानी अवाम (हम) पार्टी (सेकुलर) के नेता जीतनराम माझी, अन्नाद्रमुक के नेता ई पलानीस्वामी और नागालैंड में सत्तारूढ़ एनडीपीपी के नेता एवं मुख्यमंत्री नियो फिये रिओ ने स्वागत किया। श्री मोदी के स्वागत के लिए देश के पूर्वी, उत्तर-पूर्वी, पश्चिमी, दक्षिणी एवं उत्तरी भाग के प्रतिनिधियों की मौजूदगी से राजग की सारे देश में मौजूदगी का राजनीतिक संदेश देने की कोशिश की गयी।

बैठक शुरू होने से पूर्व राजग के नेताओं ने एक बड़ा हार पहना कर श्री मोदी का अभिनंदन किया और एक समूह चित्र भी खिंचवाया। इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी भी मौजूद थे।

जिन अन्य नेताओं ने बैठक में भाग लिया, उनमें प्रमुख रूप से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता अजीत पवार एवं प्रफुल्ल पटेल, लोकजनशक्ति पार्टी (रामविलास) के चिराग पासवान एवं पशुपति पारस, असम गण परिषद के नेता एवं असम सरकार में मंत्री अतुल बोरा, हरियाणा की जननायक जनता पार्टी (जीजीपी) के नेता एवं उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के उपेन्द्र कुशवाहा, जन सेना प्रमुख पवन कल्याण आदि शामिल थे। भाजपा अध्यक्ष श्री नड्डा ने कल एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि राजग की बैठक में 38 दलों के प्रतिनिधियों के आने की पुष्टि हुई है।

उल्लेखनीय है कि आज ही कर्नाटक के बेंगलुरू में 26 विपक्षी पार्टियों की बैठक हुई जिसमें वर्ष 2024 में होने वाले आम चुनाव को ध्यान में रखते हुए ‘यूनाइटेड व्ही स्टैंड’ के बैनर तले एक नया गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेमोक्रेटिक इन्क्लूसिव अलायन्स (इंडिया) बनाने की घोषणा की गयी। इस गठबंधन के प्रकाश में आने के बाद संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) करीब करीब अप्रासंगिक हो गया है।

राजग की बैठक और बेंगलुरु में विपक्षी दलों की संयुक्त बैठक के पहले प्रधानमंत्री श्री मोदी ने एक कार्यक्रम में विपक्षी गठबंधन पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि इन पार्टियों की ‘दुकान’ पर दो चीजों की गारंटी मिलती है। एक तो ये अपनी दुकान पर जातिवाद का जहर बेचते हैं। और दूसरा, ये लोग असीमित भ्रष्टाचार करते हैं। उन्होंने कहा, “देश की जनता कह रही है कि ये तो ‘कट्टर भ्रष्टाचारी सम्मेलन’ हो रहा है। ये लोग गा कुछ और रहे हैं, हाल कुछ और है। इन्होंने लेबल कुछ और लगाया हुआ है, माल कुछ और है। इनका उत्पाद है- 20 लाख करोड़ रुपए के घोटाले की गारंटी।”
श्री मोदी ने कहा, “भ्रष्टाचार की इस दुकान में जुटे ये सभी परिवारवाद के कट्टर समर्थक हैं। ना खाता ना बही, जो परिवार कहे, वही सही। लोकतंत्र के लिए कहा जाता है- जनता का, जनता के द्वारा, जनता के लिए। लेकिन इन परिवारवादियों का मंत्र है- परिवार का, परिवार के द्वारा, परिवार के लिए। ‘फैमिली फर्स्ट, नेशन नथिंग’ इन लोगों का उद्देश्य है, इनकी यही प्रेरणा है। ये लोग देश के लोकतंत्र को, देश के संविधान को अपना बंधक बनाना चाहते हैं। इनके लिए मैं यही कहना चाहूंगा…नफरत है, घोटाले हैं। तुष्टिकरण है, मन काले हैं। परिवारवाद की आग के, दशकों से देश हवाले है।” राजग की बैठक में भी प्रधानमंत्री के इन तेवरों की धार दिखने की उम्मीद है।

एनडीए की बैठक में शामिल होने वाली पार्टियां
भाजपा
अन्नाद्रमुक
शिवसेना (शिंदे गुट)
एनपीपी (नेशनल पीपुल्स पार्टी, मेघालय)
एनडीपीपी (नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी, नगालैंड)
एसकेएम (सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा)
जजपा (जननायक जनता पार्टी)
एजेएसयू (ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन)
आरपीआई (रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया)
एमएनएफ (मिजो नेशनल फ्रंट)
तमिल मनीला कांग्रेस
तमिलनाडु से इंडिया मक्कल कालवी मुनेत्र कड़गम (IMKMK)
आईपीएफटी (इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा)
बीपीपी (बोडो पीपुल्स पार्टी)
पीएमके (पट्टली मक्कल काची)
एमजीपी (महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी)
अपना दल एस (अपना दल सोनेलाल)
एजीपी (असम गण परिषद)
निषाद पार्टी
यूपीपीएल (यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल, असम)
अखिल भारतीय एनआर कांग्रेस, पुडुचेरी (AIRNC)
शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त, ढींडसा)
जन सेना (पवन कल्याण)
एनसीपी (अजित पवार गुट)
लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास पासवान)
हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM)
आरएलएसपी (राष्ट्रीय लोक समता पार्टी)
वीआईपी (विकासशील इंसान पार्टी, मुकेश सहनी)
एसबीएसपी (सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, ओम प्रकाश राजभर)
भारत धर्म जन सेना (बीडीजेएस, केरल)
केरल कांग्रेस (थॉमस)
गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट
जनाथिपथ्य राष्ट्रीय सभा
एनपीएफ (नगा पीपुल्स फ्रंट)
यूडीपी (यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी)
एचएसडीपी (हिल स्टेट डेमोक्रेटिक पार्टी)
जन सुराज पार्टी (महाराष्ट्र)
प्रहार जनशक्ति पार्टी (महाराष्ट्र)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top