Headline
हिप्र संकट पर जयराम रमेश का तंज, कहा- मोदी की गारंटी है कांग्रेस की सरकारों को गिराओ
रेलवे जमीन के बदले नौकरी मामला : दिल्ली की अदालत ने राबड़ी देवी और उनकी दो बेटियों को दी जमानत
उप्र का ‘रामराज्य’ दलित,पिछड़े, महिला,आदिवासियों के लिए है ‘मनुराज’ : कांग्रेस
प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर दी वैज्ञानिक समुदाय को बधाई
तमिलनाडु : औद्योगिक विकास के लिए प्रधानमंत्री का बड़ा प्रोत्साहन, शुरू की विभिन्न परियोजनाएं
वर्ष 2030 तक दुनिया में हम तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने वाले हैं : राष्ट्रपति मुर्मू
बिट्टु कुमार सिंह को मिला केंद्रीय विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर की डिग्री
चंडीगढ़ महापौर चुनाव में ‘आप’ की जीत का बदला लेना चाहती है भाजपा: आतिशी
ईवीएम के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के कई नेता गिरफ्तार

दिल्ली जल बोर्ड गंदे पानी की समस्या का स्थायी निदान करें : मुख्यमंत्री केजरीवाल

नई दिल्ली, 17 मई: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को दिल्ली जल बोर्ड को गंदे पानी की आपूर्ति की समस्या का स्थायी निदान करने के सख्त निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में गंदे पानी की समस्या पूरी तरह से खत्म करना है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने साफ पानी की सप्लाई के लिये डीजेबी को एक प्लान बनाकर देने का निर्देश दिया गया है। जिन इलाकों से गंदे पानी की शिकायत आ रही है, उनको चिन्हित कर इसके कारणों का पता लगाने और उसपर तत्काल कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

केजरीवाल ने कहा कि गंदा पानी आने के कई कारण हैं। दिल्ली में कई वाटर ट्रीटमेंट प्लांट्स पुराने हैं, जिनको आधुनिक करने का निर्देश दिया गया है। जहां अमोनिया, नाइट्रेट या आयरन जैसे पदार्थों की वजह से गंदा पानी आने की समस्या हैं, वहां पानी का इन सीटू ट्रीटमेंट किया जाएगा। इसके अलावा जहां सीवर लाइन की वजह से गंदा पानी आने की शिकायत है, वहां सीवर लाइन की डि-सिल्टिंग कर इस समस्या का स्थायी समाधान किया जाएगा।

केजरीवाल ने कहा कि पानी की उपलब्धता बढ़ाने के लिए नये ट्यूबवेल लगाने का काम तेजी से किया जाए, जिससे कि जनवरी-फरवरी महीने में ट्यूबवेल्स डाउन न हो। अधिकारियों ने अवगत कराया कि ट्यूबवेल्स लगाने के लिए डीडीए से प्राप्त जमीन को देख लिया गया है और 400 स्थानों पर ट्यूबवेल्स लगाने की मंजूरी मिल गई है।

केजरीवाल ने कहा कि पहले चरण में जगह-जगह लगाए जाने वाले 450 ट्यूबवेल्स से अगले छह महीने में दिल्ली में 70 एमजीडी पानी की क्षमता बढ़ जाएगी। इसलिए इस पर काम तेजी से किया जाए।

इस दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्रीटेड पानी का अधिकतम उपयोग करने पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में जितनी झीलें बन रही हैं, उनके कार्य में तेजी लाई जाए और जहां पर झीलें बना सकते हैं, वहां बनाने की प्रक्रिया तेज की जाए।

आगे उन्होंने कहा कि अधिकांश ट्रीटेड पानी का इस्तेमाल इन झीलों में किया जाए। यमुना में वही पानी छोड़ा जाए, जिसका बिल्कुल इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। साथ ही झीलों के साथ आरओ प्लांट लगाने का काम भी चालू किया जाए।

इन सड़कों में कंझावला रोड से रोड नंबर 316, रोड नंबर ए-2 अवंतिका चौक से पोल स्टार स्कूल, एच-ब्लॉक रोड सुल्तानपुर, मंगोलपुरी में कला मंदिर सिनेमा रोड,टैंक रोड, बी-ब्लॉक रोड, जी/एफ ब्लाक रोड, सुल्तानपुरी में बी-ब्लाक रोड व जी-ब्लाक रोड, पश्चिमी दिल्ली में प्रेम सुख रोड, आर ब्लॉक ज्वालापुरी से गुरु हरकिशन नगर साईं मंदिर रोड, 60 फूटा रोड ज्वालापुरी, कैपिटल प्लाजा मार्किट से जहाज अपार्टमेंट तक की सड़क, विंध्याचल अपार्टमेंट से विराट कोऑपरेटिव सोसाइटी की सड़क, लक्ष्मी नारायण मार्ग, सैंट मार्क्स स्कूल से डीडीए मार्किट तक की सड़क शामिल है।

परियोजना को मंजूरी देते हुए, पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने कहा, “इस प्रोजेक्ट से उत्तर-पश्चिमी व पश्चिमी दिल्ली में सड़कों की स्थिति बेहतर होगी। जिससे वे अधिक टिकाऊ बनेंगे। इसके अलावा सौंदर्यीकरण के साथ ये क्षेत्र की खूबसूरती को बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार दिल्ली में सड़कों को बेहतर बनाने के साथ दिल्ली के नागरिकों के लिए सुरक्षित और आरामदायक यात्रा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

इस दिशा में शहर में सड़कों की स्थिति को प्रभावित करने वाले प्रमुख मुद्दों की पहचान करने और उनका समाधान करने के लिए हम योजना बनाकर काम करते है। इस योजना में विशेषज्ञों द्वारा सड़कों का मूल्यांकन, सड़कों की मरम्मत और उन्हें मजबूत करने के लिए आधुनिक तकनीकों का उपयोग किया जाता है ताकि ये सुनिश्चित हो सकें कि वे ये सड़कें भारी यातायात और किसी भी मौसम का सामना कर सकें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top