Headline
दूसरा चरण: पर्यवेक्षकों के साथ कॉन्फ्रेंस कर चुनाव आयोग ने दिए निर्देश
आम चुनाव के पहले चरण में 102 सीटों पर मतदान की तैयारी पूरी, शुक्रवार सुबह सात बजे से मतदान
कुतुब मीनार का दीदार करने भारी संख्या में पहुंचे पर्यटक, फ्री टिकट का जमकर उठाया लुत्फ
संविधान बदलने और वोट का अधिकार छीनने के लिए मोदी मांग रहे 400 सीटें : आप
मनीष सिसोदिया की रिहाई पर ग्रहण, न्यायिक हिरासत 26 अप्रैल तक बढ़ी
केजरीवाल ‘टाइप 2’ मधुमेह होने के बावजूद आम और मिठाई खा रहे: ईडी ने अदालत से कहा
धनबल, मंदिर-मस्जिद के नाम पर वोट का न हो गलत इस्तेमाल : मायावती
सेना और सुरक्षाबलों का अपमान कांग्रेस और इंडी गठबंधन की पहचान : शहजाद पूनावाला
तेजस्वी की सभा में चिराग पासवान को गाली दिए जाने की घटना को बिहार भाजपा अध्यक्ष ने बताया पीड़ादायक

जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान लुटियंस दिल्ली में बसों की आवाजाही रहेगी बंद, मेट्रो का इस्तेमाल करें: दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली, 25 अगस्त: दिल्ली यातायात पुलिस ने दो दिवसीय जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान लोगों को लुटियंस दिल्ली में आवाजाही के लिए मेट्रो का इस्तेमाल करने की शुक्रवार को सलाह दी। सम्मेलन के मद्देनजर इस इलाके में बसों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी। प्रतिबंध का यह आदेश सात सितंबर की मध्यरात्रि से 10 सितंबर की मध्यरात्रि तक लागू रहेगा।

संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए यातायात पुलिस के विशेष आयुक्त एस एस यादव ने कहा कि दिल्ली पुलिस की वेबसाइट पर एक वर्चुअल हेल्पडेस्क की शुरुआत की जाएगी जिसमें उपलब्ध यातायात और स्वास्थ्य सुविधाओं को सूचीबद्ध किया जाएगा।

उन्होंने कहा, ”एंबुलेंस या आवश्यक सेवाओं की आवाजाही पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हालांकि, नई दिल्ली क्षेत्र में बसों के संचालन पर प्रतिबंध रहेगा लेकिन दिल्ली मेट्रो पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। जनता को सलाह दी जाती है कि वे अपने गंतव्य तक आने-जाने के लिए मेट्रो का उपयोग करें।”

नई दिल्ली में यातायात पुलिस उपायुक्त आलाप पटेल ने बताया कि लुटियंस दिल्ली में रहने वाले या जिन पर्यटकों की होटलों में बुकिंग है, वे ऑटो रिक्शा और टैक्सियों से यात्रा कर सकते हैं। उन्होंने कहा, ”दिल्ली हवाईअड्डे से लुटियंस दिल्ली आ रहे लोगों को पहचान पत्रों के उचित सत्यापन के बाद ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।”

अधिकारियों ने बताया कि अंतरराज्यीय बसों को जी 20 शिखर सम्मेलन के दौरान दिल्ली में प्रवेश की अनुमति होगी लेकिन उनका अंतिम ठहराव अंतर-राज्यीय बस अड्डे पर नहीं होगा। पटेल ने कहा, ”एंबुलेंस सहायता सेवा के लिए लोग 6828400604 पर कॉल कर सकते हैं। यह सेवा सात सितंबर की रात से शुरू की जाएगी।”

अधिकारियों के अनुसार, राजधानी के प्रगति मैदान के अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर में नौ और 10 सितंबर को आयोजित होने वाले शिखर सम्मेलन के दौरान शहर में निर्बाध यातायात व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए 10,000 पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top