Headline
भोजपुरी अभिनेता पवन सिंह की मां ने भी काराकाट से भरा नामांकन
जानें ग्वालियर रियासत की राजमाता को: नेपाल राजघराने से था ताल्लुक, शादी के बाद किरण से बनीं माधवी राजे सिंधिया
ग्वालियर राजघराने की राजमाता माधवी का निधन, सीएम समेत अन्य नेताओं ने जताया दुख
अमीर और गरीब की लड़ाई है मौजूदा लोकसभा चुनाव : खड़गे
उच्चतम न्यायालय ने न्यूज़क्लिक प्रधान संपादक प्रबीर पुरकायस्थ की गिरफ्तारी को अवैध करार दिया, अविलंब रिहा करने का आदेश
दिल्ली हाई कोर्ट ने सिसोदिया की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
कन्हैया कुमार ने पीएम मोदी को दी अंबानी-अडाणी के यहां ईडी-सीबीआई को भेजने की चुनौती
मोदी के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान की पोल खोलेगी ‘आप’ : गोपाल राय
भारी मतदान के जरिये लोगों ने दिल्ली को दिया संदेश: महबूबा

‘आदिपुरुष’ के मेकर्स पर भड़के रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर

मुंबई, 17 जून : ओम राउत द्वारा निर्देशित फिल्म ‘आदिपुरुष’ 16 जून को हर जगह रिलीज हुई। रामायण पर आधारित इस फिल्म को लेकर दर्शकों में उत्सुकता थी। देखा गया कि पहले दिन ही फिल्म देखने के लिए दर्शकों की भीड़ सिनेमाघरों में उमड़ पड़ी। हालांकि, ‘आदिपुरुष’ दर्शकों को पसंद नहीं आई। इस फिल्म को कई लोगों ने ट्रोल किया है। रामायण सीरीज के डायरेक्टर रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर ने फिल्म ‘आदिपुरुष’ पर कमेंट किया है।

प्रेम सागर ने हाल ही में मीडिया को इंटरव्यू दिया। जिसमें उन्होंने ‘आदिपुरुष’ की कहानी, सिनेमाई आजादी, फिल्म में रावण के रोल और डायलॉग्स पर कमेंट किया। उन्होंने कहा, ”मैंने फिल्म नहीं देखी है। लेकिन मैंने आदिपुरुष का ट्रेलर और टीजर देखा है। रामानंद सागर ने भी रामायण में क्रिएटिव फ्रीडम का इस्तेमाल किया था। लेकिन वह श्रीराम को समझ चुके थे। कई पाठों को पढ़ने के बाद उन्होंने छोटे-मोटे बदलाव किए। लेकिन सच्चाई के साथ कभी छेड़छाड़ नहीं की गई।

फिल्म ‘आदिपुरुष’ में सैफ अली खान द्वारा निभाए गए रावण के रोल के बारे में उन्होंने कहा, ‘रावण एक विद्वान और बुद्धिमान व्यक्ति था। उन्हें खलनायक के रूप में चित्रित करना गलत है। शास्त्रों के अनुसार रावण ने इतनी तबाही इसलिए की क्योंकि वह जानता था कि श्रीराम के हाथों ही उसे मोक्ष मिल सकता है। श्रीराम भी रावण को विद्वान मानते थे। जब रावण मरने वाला था, तब श्रीराम ने कुछ सीखने के इरादे से लक्ष्मण को उनके पैरों पर जाने के लिए कहा। इसलिए आप रावण को खलनायक के रूप में चित्रित नहीं कर सकते।’

इंटरव्यू में उनसे हनुमान द्वारा बोले गए डायलॉग ‘तेल तेरे बाप का, जलेगी तेरे बाप की’ के बारे में भी पूछा गया। इसका जवाब देते हुए प्रेम सागर हंस पड़े और इसे टपोरी स्टाइल बताया। उन्होंने यह भी कहा कि ओम राउत ने ‘आदिपुरुष’ फिल्म मार्वल बनाने की कोशिश की थी।

कई लोगों ने रामायण लिखी है लेकिन इसकी कहानी किसी ने नहीं बदली। केवल रंग और भाषा बदली है। जबकि ‘आदिपुरुष’ में सच्चाई से छेड़छाड़ की गई है। क्या आप रामायण पर वेब सीरीज बनाएंगे? उनसे भी पूछा गया। इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘मेरे पिता ने कहा था कि 85 साल तक ऐसी रामायण कोई नहीं बना पाएगा। उन्होंने लोगों को मर्यादा पुरुषोत्तम की कहानी सुनाई।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top